अब शिक्षक कक्षा के बाहर बैठकर नहीं पढ़ाएंगे

दैनिक जागरण की टीम ने जिन विद्यालयों में बुधवार को मिड-डे-मील (एमडीएम) की हकीकत परखी थी। गड़बड़ी मिलने पर संबंधित विद्यालयों के प्रधानाध्यापक और प्रधानाध्यापिकाओं से खंड शिक्षा अधिकारी (नगर) ने स्पष्टीकरण लिया है। वह अपनी रिपोर्ट तैयार करके एक-दो दिन में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को सौंपेंगे। इसके साथ ही निर्देशित किया गया है कि अब शिक्षक कक्षा के बाहर बैठकर नहीं पढ़ाएंगे।

दैनिक जागरण की टीम ने बुधवार को पीडी टंडन रोड स्थित प्राथमिक विद्यालय, पुराना कटरा स्थित प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक विद्यालय, नया कटरा स्थित प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय और एलनगंज स्थित आदर्श प्राथमिक विद्यालय और पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में एमडीएम की पड़ताल की थी। गड़बड़ियां मिलने पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संजय कुमार कुशवाहा के निर्देश पर खंड शिक्षा अधिकारी (नगर) ज्योति शुक्ला ने एक प्रधानाध्यापक और चार प्रधानाध्यापिकाओं से स्पष्टीकरण तलब किया। सभी ने अपना लिखित जवाब बीईओ को दे दिया है। वहीं, बीईओ ने नगर क्षेत्र के सभी विद्यालयों को निर्देश जारी किया है कि एमडीएम की संपूर्ण व्यवस्था प्रधानाध्यापक और इंचार्ज प्रधानाध्यापक देखेंगे। मेन्यू एवं मानक के मुताबिक कितनी सामग्री होनी चाहिए, उसकी जानकारी रसोइया को भी अनिवार्य रूप से होनी चाहिए। दूध मापन के लिए 150 और 200 मिग्रा. का यंत्र भी किचन में होना चाहिए। साबुन, मग और तौलिया की भी व्यवस्था होनी चाहिए। शिक्षकों के कक्षा के बाहर बैठकर पढ़ाने पर भी रोक लगा दी गई है। शिक्षक कक्षा में बैठकर ब्लैक बोर्ड पर ही पढ़ाएंगे। एमडीएम में गड़बड़ी के मामले में प्रधानाध्यापक और प्रधानाध्यापिकाओं से लिया गया स्पष्टीकरण

ईंट की दीवार बनवाने के निर्देश

बीईओ ने शुक्रवार को पीडी टंडन रोड स्थित प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण किया। बच्चों की संख्या सात मिली। उन्होंने जो सवाल पूछा, बच्चे उसका जवाब नहीं दे सके। उन्होंने प्रधानाध्यापिका तनवीर खान को विद्यालय फंड से किचन में मिट्टी की दीवार की जगह ईंट की दीवार बनवाने का निर्देश दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.