अब आई नियुक्ति की याद, तीन चौथाई सत्र बीता

  

तीन चौथाई शैक्षिक सत्र (वर्ष 2019-20) बीत गया तब जाकर जनपद के कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों में रिक्त पदों पर शिक्षिकाओं एवं अन्य स्टॉफ की नियुक्ति की याद शासन को आई है। शासन ने रिक्त पदों पर नियुक्ति के निर्देश जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को जारी किए हैं। निर्देश के क्रम में ही नियुक्ति संबंधी विज्ञापन तैयार कराने की कवायद विभाग ने शुरू कर दी है।

जनपद में कुल 20 कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय हैं जिनमें गणित, विज्ञान, अंग्रेजी जैसे महत्वपूर्ण विषयों में शिक्षिकाओं के साथ वार्डेन, लेखाकार और रसोइयों के 34 पद रिक्त हैं। सभी पदों पर संविदा पर नियुक्तियां होनी हैं। लेकिन सवाल यह है कि जब गणित, अंग्रेजी और विज्ञान जैसे अहम विषयों में शिक्षिकाओं का टोटा है तो इन विषयों में छात्रओं की पढ़ाई कैसे हो रही है? छात्रओं की अर्धवार्षिक परीक्षाएं हो चुकी हैं। ढाई-तीन महीने बाद वार्षिक परीक्षाएं भी होंगी। यदि विभाग ने बहुत तेजी करते हुए रिक्त पदों पर शिक्षिकाओं की नियुक्ति इस महीने के अंत तक कर भी दी तो क्या इतने कम समय में छात्रओं का कोर्स पूरा हो सकेगा। बहरहाल, 15 दिन में नियुक्ति संबंधी प्रक्रिया पूरी हो पाना संभव नहीं हैं, क्योंकि विभागीय स्तर पर अभी भर्ती का विज्ञापन निकालने की तैयारी ही चल रही है।

दो तरह की शिक्षिकाओं की नियुक्तियां : पूर्णकालिक और अंशकालिक (दो तरह) शिक्षिकाओं की नियुक्तियां होनी हैं। लेखाकार, मुख्य और सहायक रसोइया एवं चौकीदार भी रखे जाएंगे। वार्डेन, शिक्षिका और लेखाकार पद पर चयन मेरिट आधार पर होगा, जबकि मुख्य और सहायक रसोइयों का चयन साक्षात्कार के जरिए होगा।

कितना होगा प्रतिमाह मानदेय : वार्डेन का मानदेय 27,500 रुपये, पूर्णकालिक शिक्षिकाओं का 22 हजार, अंशकालिक का 9,800 और लेखाकार का 11 हजार रुपये प्रतिमाह होगा। वहीं, मुख्य रसोइया का 69 सौ और सहायक रसोइया का 5175 रुपये मानदेय होगा। वार्डेन, शिक्षिकाओं और रसोइयों को विद्यालय में ही रात में रहना भी पड़ेगा।

शासन के निर्देश के क्रम में नियुक्ति संबंधी विज्ञापन तैयार कराया जा रहा है। शीघ्र ही विज्ञापन निकाला जाएगा। ताकि प्रक्रिया जल्द पूरी की जा सके। -ताज मोहम्मद, जिला समन्वयक (बालिका शिक्षा) सर्वशिक्षा अभियान।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *