इंटरमीडिएट की परीक्षा को रद किए जाने को उचित नहीं

लखनऊ : राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद की ओर से हाईस्कूल की परीक्षाएं रद किए जाने को स्वागत योग्य बताया गया है। वहीं, दूसरी ओर इंटरमीडिएट की परीक्षा को रद किए जाने को उचित करार नहीं दिया है।

कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष जेएन तिवारी का मानना है कि इंटर के बाद नौकरियों के लिए दरवाजे खुल जाते हैं। डिप्लोमा एवं डिग्री में आगे पढ़ाई के लिए भी। परीक्षा रद होने से प्रतिभा संपन्न मेधावी, स्वमोटिवेटेड, पढ़ाई में निरंतर लगे हुए छात्रों की प्रतिभा पीछे रह गई है। इससे स्नातक स्तर पर प्रवेश में मारामारी होगी। इसलिए इंटरमीडिएट में मूल्यांकन की ऐसी व्यवस्था तय की जाए, जिससे ऐसी स्थिति का सामना न करना पड़े।