कालेजों में शिक्षकों के पद खाली होने के बाद भी वेबसाइट पर नहीं

image source odishatv.in

लखनऊ : प्रदेश के राजकीय माध्यमिक कालेजों की आनलाइन तबादला प्रक्रिया में भी खेल करने की तैयारी है। डीआइओएस व पटल सहायकों ने कई कालेजों में शिक्षकों के पद खाली होने के बाद भी वेबसाइट पर रिक्ति नहीं दिखाई है, इससे रिक्त पदों के सापेक्ष आवेदन ही नहीं होंगे। इन पदों को तबादला प्रक्रिया पूरी होने के बाद ‘पहुंच’ के आधार पर आसानी से भरा जा सकेगा। शिक्षक इन पदों को लेकर मुखर हैं।

राजकीय माध्यमिक कालेजों में तैनात प्रधानाचार्य, उप प्रधानाचार्य, प्रधानाध्यापक, प्रवक्ता व प्रशिक्षित स्नातक शिक्षकों को मनचाहे कालेजों में स्थानांतरित करने की प्रक्रिया चल रही है। जिलों से रिक्त पदों की सूचना लेकर उसे वेबसाइट पर फीड किया गया और शासन के निर्देश पर 28 जून से आनलाइन आवेदन लिए जा रहे हैं। निर्देश है कि आवेदन के समय शिक्षकों को पांच कालेजों का विकल्प देना होगा। मानक गुणांक व वरीयता सूची के आधार पर संबंधित शिक्षक का तबादला किया जाना है। शिक्षक उन्हीं कालेजों का विकल्प दे सकते हैं, जो वेबसाइट पर दर्ज हैं। रिक्त पदों को वेबसाइट पर दर्ज करने में ही खेल किया गया है, जिला विद्यालय निरीक्षक व पटल सहायकों ने मिलकर उन कालेजों में रिक्त पद वेबसाइट पर दर्ज ही नहीं किया है, जिन कालेजों में शिक्षक बड़ी संख्या में जाना चाहते हैं।

राजकीय बालिका इंटर कालेज फाफामऊ प्रयागराज में प्रवक्ता अंग्रेजी, राजकीय बालिका इंटर कालेज बांदा में भी प्रवक्ता अंग्रेजी, राजकीय बालिका इंटर कालेज कटरा प्रयागराज में सहायक अध्यापक शारीरिक शिक्षा सहित अन्य कई रिक्त पदों को प्रदर्शित ही नहीं किया है। इससे शिक्षकों में नाराजगी भी है। पुष्पेंद्र कुमार सिंह ने अपर शिक्षा निदेशक राजकीय को रिक्त पद वेबसाइट पर न होने की शिकायत भी की है। उधर, शिक्षा निदेशक माध्यमिक विनय कुमार पांडेय का कहना है कि रिक्त पदों की सूचना जिलों से भेजी गई है। उसी के आधार पर तबादले होने हैं।