क्या स्कूल प्रबंधक समेत अन्य आरोपियों को किसी सफेदपोश ने तो शरण नहीं दी

69000 शिक्षक भर्ती घोटाले में फरार स्कूल प्रबंधक समेत अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई. जिसके कारण अब आवाज उठाने लगी है कि कही इन आरोपिओं को किसी सफेदपोश ने तो शरण नहीं दी है. इतनी छापेमारी के बाद भी इन आरोपिओं का पता अभी तक पता नहीं चला. कहा जा रहा कि शिक्षक भर्ती घोटाले के आरोपियों के तार राजनीति से भी जुड़े हैं. जबकि शिक्षक भर्ती का आरोपी डॉ कृष्ण लाल पटेल जिला पंचायत सदस्य रह चुका है. वहीं फरार आरोपी स्कूल प्रबंधक चंद्रपाल यादव ने भी गिरफ्तारी से पहले तक अपने पोस्टर शहर में चस्पा किए थे. जमानत पर छूटने के बाद ही चंद्रमा यादव की शिक्षक भर्ती में तलाश शुरू हो गई. भदोही का मायापति दुबे पहले से ही फरार चल रहा है. एसटीएफ के पास सभी के मोबाइल नंबर मौजूद हैं, सर्विलांस से उनकी लोकेशन ली गई लेकिन कहीं से भी कोई क्लू नहीं मिला. अब यह चर्चा शुरू हो गई है कि आरोपियों ने ऐसी जगहों पर शरण ली है जहां तक पुलिस और एसटीएफ की पहुंच नहीं है. यह पता ही नहीं चल पा रहा है कि किसने उन्हें शरण दी है. एसटीएफ कोर्ट के आदेश पर फरार आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करेगी.

image source odishatv.in