ओमिक्रोन की दहशत के बीच स्‍कूलों को बंद करने का अभी कोई प्रस्‍ताव नहीं – डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी

  

satishयूपी के बेसिक शिक्षा मं‍त्री डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी ने कहा है कि ओमिक्रोन की दहशत के बीच स्‍कूलों को बंद करने का अभी कोई प्रस्‍ताव नहीं है. यूपी के बेसिक शिक्षा मं‍त्री डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी ने कहा है कि ओमिक्रोन की दहशत के बीच स्‍कूलों को बंद करने का अभी कोई प्रस्‍ताव नहीं है. उन्‍होंने कहा कि सवा सौ करोड़ की आबादी में 120 करोड़ लोगों का टीकाकरण हो चुका है. उत्तर प्रदेश की 23 करोड़ की आबादी में 18 करोड़ का टीकाकरण हो चुका है. उत्‍तर प्रदेश में च‍िंता का कोई विषय नहीं हैं. यूपी में बाहर से आने वाले कुछ यात्रियों में संक्रमण पाया गया है. सरकार पूरी तरह से स‍तर्क है. किसी तरह की कोई गंभीर समस्‍या की संभावना नहीं है. स्‍कूलों को बंद करने को लेकर अभिभावकों के मन में संशय के सवाल पर उन्‍होंने कहा कि अभी ऐसा कोई प्रस्‍ताव नहीं है.

गोरखपुर के सिविल लाइन्‍स में गुरुवार को उत्तर प्रदेश प्रधानाचार्य परिषद के 42वें प्रांतीय अधिवेशन में बतौर मुख्‍य अतिथि यूपी के बेसिक शिक्षा राज्‍यमंत्री स्‍वतंत्र प्रभार डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी पहुंचे. यहां पर उन्‍होंने शिक्षकों की समस्‍याओं को सुना और इसके साथ ही नई शिक्षा नीति को लागू करने को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी का धन्‍यवाद देते हुए नई शिक्षा नीति को लागू करने में शिक्षकों की भूमिका पर भी चर्चा की. उन्‍होंने कहा कि उत्तर प्रदेश प्रधानाचार्य परिषद शिक्षा परिषद शिक्षा की गुणवत्ता के लिए अनवरत प्रयास करता है. इस अधिवेशन में माध्‍यमिक के प्रधानाचार्य जुटते हैं.

डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी ने कही ये बात
डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी ने कहा, ‘माध्‍यमिक शिक्षा के क्षेत्र में जो चुनौतियां होती हैं, उसके निवारण के लिए सरकार के समक्ष समस्‍याओं को अवगत कराते हैं. सरकार तक उनके विचारों को पहुंचाने के लिए यहां पर सम्मिलित होने आया हूं. स्‍वयं शिक्षक होने के नाते भी यहां पर आता हूं. ये संगठन चुनावी वर्ष में गतिशील बना रहे. इसके लिए भी यहां आकर अच्‍छा लगा. प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी नए भारत और यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ नए और उत्‍तम उत्तर प्रदेश का निर्माण करना चाहते हैं, निश्चित तौर पर इस तरह के कार्यक्रम उसमें सहायक साबित होंगे.’

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *