अलीगढ़ के 411 स्कूलों में गैस कनेक्शन नहीं

अलीगढ़ : कक्षा एक से आठ तक के 411 सरकारी स्कूलों में अभी भी mid day meal (एमडीएम) पकाने के लिए गैस कनेक्शन नहीं हैं। वहीं 500 के करीब ऐसे स्कूल हैं जहां गैस कनेक्शन होने के बावजूद खाना चूल्हे पर पकता है क्योंकि इन स्कूलों में छात्र संख्या इतनी ज्यादा है कि दो गैस सिलेंडर कम पड़ जाते हैं। यानी लगभग 1000 स्कूलों में चूल्हे पर खाना पकाया जा रहा है। जिले में मिड-डे-मील वितरण वाले कुल 2644 सरकारी स्कूल हैं। इनमें से 2233 में गैस कनेक्शन हैं। चूल्हे पर खाना पकाकर बच्चों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। साथ ही वातावरण को भी नुकसान पहुंच रहा है।

शासन के आदेश ताक पर : प्रदेश के सभी सरकारी स्कूलों में चूल्हे पर लकड़ी या गोबर के उपले जलाकर एमडीएम पकाने पर रोक है। मध्याह्न् भोजन प्राधिकरण ने भी बच्चों के स्वास्थ्य के मद्देनजर चूल्हे पर खाना न पकाने के निर्देश दिए हैं। मगर गैस कनेक्शन न होने के चलते नियमों की धज्जियां उड़ रही हैं।

कम सिलेंडरों पर चोरी की मार : एक तो सभी स्कूलों में गैस कनेक्शन नहीं हैं। जहां हैं भी वहां चोरी हो रहे हैं। पिछले एक साल में चोरी की करीब 12 से 14 बड़ी घटनाएं हुई हैं। इनमें लगभग 18 से 20 सिलेंडर भी चोरी हुए। रिपोर्ट दर्ज हुईं मगर अभी तक पुलिस कोई सुराग नहीं लगा सकी है।

बच्चों का स्वास्थ्य खराब : फिजीशियन नितिन गुप्ता ने बताया कि लकड़ी के धुएं से बच्चों के फेफड़ों का विकास रुकता है। इसके अलावा बच्चों को खांसी, सिरदर्द के अलावा आंखों में जलन की शिकायतें भी आती हैं। साथ ही गले में जलन से भी बच्चे पीड़ित होते हैं। धुएं के बारीक कण शरीर में प्रवेश करके दिल के दौरे और स्ट्रोक का कारण भी बन सकते हैं। शासन से बजट की मांग की गई है। प्रयास है कि जल्द से जल्द चूल्हा प्रथा खत्म हो। ये शासन स्तर की नीतियां हैं, जैसे-जैसे राशि मिलती जाती है कनेक्शन मिलते रहते हैं। धीरेंद्र कुमार, बीएसए

पढ़ें- कुंडली देखकर बदले जाएंगे अफसर

No gas connections basic schoolMid Day Meal Latest News पढ़ने के लिए आप Primary ka Teacher ब्लॉग को सब्सक्राइब कर सकते है। जिससे आपको हमारे ब्लॉग की लेटेस्ट पोस्ट का नोटिफिकेशन मिल सके। साथ ही इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा सोशल मीडिया पर शेयर करें ताकि और लोग भी इस पोस्ट का फायदा उठा सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *