प्राथमिक स्कूलों की नई शिक्षक भर्ती का ऐलान इसी माह होने के आसार

teacherलखनऊ : बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों की नई शिक्षक भर्ती का ऐलान इसी माह होने के आसार हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर राजस्व परिषद अध्यक्ष मुकुल सिंघल की अगुवाई में बनी तीन सदस्यीय कमेटी 15 दिन से रिक्त पदों व विद्यालयों के पद निर्धारण प्रक्रिया को खंगाल रही है। नई भर्ती पदों के हिसाब से सबसे बड़ी हो सकती है। स्कूलों में शिक्षकों के 70 हजार से अधिक पद खाली हैं। कमेटी की रिपोर्ट सौंपने के बाद ऐलान किए जाने की तैयारी है।

परिषदीय विद्यालयों के लिए नई शिक्षक भर्ती की मांग लंबे समय से की जा रही है। बेसिक शिक्षा विभाग ने 69,000 शिक्षक भर्ती के दौरान शीर्ष कोर्ट में हलफनामा दिया था कि विभाग में 51,112 शिक्षकों के पद रिक्त हैं। पिछले वर्षो में हुई शिक्षक भर्ती के खाली पदों को नई शिक्षक भर्ती में जोड़ा जा सकता है। 68,500 भर्ती अब तक पूरी नहीं हो सकी है, इसलिए रिक्त पदों को लेकर माथापच्ची की जा रही है।

यह भी पढ़ेंः  प्राथमिक स्कूलों की 69,000 शिक्षक भर्ती में तय पदों का आरक्षण बदलने की मांग तेज

वहीं, 69,000 शिक्षक भर्ती के सारे पद तीन चरणों की काउंसिलिंग के बाद भी भरे नहीं जा सके हैं। इधर के वर्षो में सेवानिवृत्त होने वाले व कोरोना काल में काल कवलित हुए शिक्षकों का ब्योरा जुटाया जा रहा है। संकेत हैं कि कमेटी अपनी रिपोर्ट जल्द सौंपेगी, क्योंकि विलंब होने पर विधानसभा चुनाव से पहले भर्ती पूरी हो पाना मुश्किल होगा।

2018 व 2019 में कराया गया था पद निर्धारण : प्रदेश में निश्शुल्क एवं बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2009 लागू है। उसी की सिफारिशों के अनुरूप 2018 में शिक्षकों का पद निर्धारण करते हुए स्कूलों में बड़ी संख्या में प्रधानाध्यापक पद का अनुमोदन नहीं हुआ, लेकिन सरकार ने इन पदों को खत्म नहीं किया है। स्कूलों में छात्र शिक्षक अनुपात दुरुस्त करने के लिए 2019 में भी पद निर्धारण प्रक्रिया चली।

यह भी पढ़ेंः  अंतिम वर्ष और अंतिम सेमेस्टर के विद्यार्थियों की परीक्षाएं ही आयोजित की जाएंगी

नवंबर में यूपीटीईटी कराने की तैयारी : भर्ती की तैयारियों के तहत यूपीटीईटी नवंबर में कराने की तैयारी है। शासन ने परीक्षा संस्था से इस संबंध में प्रस्ताव मांगा है।

70 हजार से अधिक पद खाली, रिपोर्ट तैयार कर रही कमेटी