परिषदीय विद्यालयों में शिक्षक भर्ती में फर्जीवाड़े के नए नए मामले

हरदोई : परिषदीय विद्यालयों में शिक्षक भर्ती में फर्जीवाड़े के नए नए मामले सामने आ रहे हैं। साढ़े सात साल बाद तीन शिक्षक फर्जी शिक्षक पात्रता परीक्षा प्रमाणपत्र के अंकों के आधार पर नौकरी करते पकड़े गए हैं। भरखनी विकास खंड में नौकरी कर रहे तीनों शिक्षक फिरोजाबाद जिले के रहने वाले हैं। बीएसए ने तीनों को बर्खास्त कर दिया है। उनसे वेतन वसूली की भी कार्रवाई होगी।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी हेमंतराव ने बताया कि भरखनी विकास खंड के उच्च प्राथमिक विद्यालय हथौड़ा के सहायक अध्यापक वीरेश कुमार का जाति प्रमाण पत्र भी फर्जी निकला। शिक्षक पात्रता परीक्षा में उन्हें 50 अंक मिले थे और वह फेल थे, लेकिन 88 अंक का फर्जी अंक पत्र लगाकर नौकरी हासिल की थी। इसी तरह उच्च प्राथमिक विद्यालय धानीनगला के सहायक अध्यापक योगेंद्र सिंह ने भी उत्तर प्रदेश टीईटी प्रमाणपत्र का फर्जी अंक पत्र लगाया था।