राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों के पांच हजार से अधिक पद खाली

प्रदेश के 2294 (1108 बालक और 1186 बालिका) राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों के पांच हजार से अधिक पद खाली हैं। राजकीय विद्यालयों के प्रधानाचार्य, उप प्रधानाचार्य / प्रधानाध्यापक, प्रवक्ता और सहायक अध्यापकों के ऑनलाइन तबादले के लिए वेबसाइट पर दी रिक्तियों के अनुसार बड़ी संख्या में प्रवक्ता के पद रिक्त हैं।

वेबसाइट पर कुल 10309 रिक्त पदों की सूचना है। इनमें से सहायक अध्यापक के 4800 से अधिक और प्रवक्ता के 5400 से अधिक पद हैं। सहायक अध्यापक सामाजिक विज्ञान के 1851 और हिन्दी के 1432 पदों पर चयन की कार्रवाई गतिमान हैं। इस लिहाज से सहायक अध्यापकों के डेढ़ हजार से अधिक पद रिक्त हैं।

वहीं प्रवक्ता के 5400 से अधिक रिक्त पदों में से 1473 पद उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग विज्ञापित कर चुका है। जिसके लिए आवेदन करने वाले लगभग पांच लाख अभ्यर्थियों की लिखित परीक्षा 19 सितंबर को होनी है।

रिक्त पदों को भरने की उठी मांगः राजकीय विद्यालयों में रिक्त पदों को भरने की मांग उठने लगी है। प्रतियोगी छात्रों का कहना है कि 2018 में सहायक अध्यापकों के 10768 पदों पर भर्ती शुरू हुई थी जिनमें से बड़ी संख्या में पद भरे नहीं जा सके। सामाजिक विज्ञान और हिन्दी के भी सैकड़ों पद खाली रह जाएंगे। ऐसे में माध्यमिक शिक्षा विभाग को जल्द नई भर्ती शुरू करनी चाहिए ताकि योग्य बेरोजगार युवाओं को अवसर मिल सके।