यूपी की दो शिक्षक भर्तियों में एक चौथाई से अधिक शिक्षक पदों पर चयन लटका

यूपी की शिक्षक भर्तियाँ विवाद के कारण लटकी रही है. चाहे वो शिक्षक भर्ती उच्च शिक्षा में हो या माध्यमिक या फिर बेसिक शिक्षा की हो सभी में कोई न कोई विवाद जरूर पैदा हो जाता है. हाल ही में बेसिक शिक्षा विभाग की 69 हजार शिक्षक भर्ती में भी गलत सवालों के उत्तरों को लेकर विवाद पैदा हो गया है. पूर्व में उच्च और माध्यमिक शिक्षा की दो शिक्षक भर्तियां भी विवाद के कारण लटकी हैं. स्थिति यह है कि उन दोनों भर्तियों में शामिल एक चौथाई से अधिक रिक्त पदों का रिजल्ट अब तक जारी नहीं किया जा सका है. यहां बात हो रही है लोक सेवा आयोग की एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती 2018 और उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग के असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती 2016 की.

उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग
उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग की असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती की प्रक्रिया को शुरू हुए चार साल हो गए लेकि ये भर्ती अपने आखिरी चरण में नहीं पाउच पाई. आपको बता दे कि राज्य के सहायता प्राप्त डिग्री कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसर के 35 विषयों के 1150 रिक्त पदों पर
भर्ती के लिए जून 2016 में विज्ञापन जारी कर आवेदन मांगे थे. तमाम विवादों के बाद भी इसकी लिखित परीक्षा 15 दिसंबर 2018 से 12 जनवरी 2019 तक तीन चरणों में आयोजित की गयी. वर्तमान में इस भर्ती की स्थिति यह है कि समाजशास्त्र और शिक्षा शास्त्र का अंतिम रिजल्ट जारी नहीं किया जा सका. इन दोनों विषयों में असिस्टेंट प्रोफेसर के 373 पद हैं, यानी की इस भर्ती में शामिल कुल 1150 रिक्त पदों का लगभग 32 प्रतिशत पद इन्हीं विषयों में हैं. एक विषय की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट तो दूसरे की हाईकोर्ट में चल रही है.

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग
अब बात करते है एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की जोकि उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग इस भर्ती को करा रहा है. राजकीय इंटर कॉलेजों में शिक्षक भर्ती के लिए 15 विषयों के एलटी ग्रेड शिक्षकों के 10768 रिक्त पदों की भर्ती प्रक्रिया 15 मार्च 2018 को शुरू हुई थी. सभी सब्जेक्ट के लिए एक साथ लिखित परीक्षा का आयोजन 29 जुलाई 2018 को किया गया. इस भर्ती में शामिल 13 सब्जेक्ट के रिजल्ट जारीकर दिए गए लेकिन अभी तक दो सब्जेक्ट हिन्दी और सामाजिक विज्ञान का रिजल्ट जारी नहीं किया गया. इस दोनों सब्जेक्ट के रिक्त पद सबसे अधिक है. इन दोनों सब्जेक्ट के 3287 रिक्त पद हैं. जोकि भर्ती में शामिल कुल 10768 पदों का लगभग 31 प्रतिशत है। रिजल्ट पेपर लीक होने के आरोपों की वजह से लटका हुआ है.

image source odishatv.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.