यूपी बोर्ड हेल्प डेस्क : तीन घंटे में सौ से अधिक बच्चों ने पूछे सवाल

UP Board Help Desk : हेलो मैम, मैं राजकीय इंटर कॉलेज खीरी से सरताज अहमद बोल रहा हूं। इस बार यूपी बोर्ड के 12वीं के प्रैक्टिकल पाठ्यक्रम को लेकर कुछ शंकाएं हैं। प्लीज, यह बताइए कि रसायन विज्ञान की प्रयोगात्मक परीक्षा की रूपरेखा क्या होगी? प्रश्न सुनकर हेल्प डेस्क पर बैठीं शिक्षिका संध्या राजपूत ने छात्र को जानकारी दी।

संयुक्त शिक्षा निदेशक सुरेंद्र कुमार के निर्देश पर रविवार को शिक्षा भवन में तीन घंटे के लिए ‘प्रयोग परामर्श’ हेल्प डेस्क शुरू की गई। इसके लिए नंबर भी जारी किया गया था। इस दौरान राजधानी समेत विभिन्न जिलों से 100 से अधिक विद्यार्थियों के फोन आएं। डेस्क पर बैठे प्रभारी मंडलीय विज्ञान प्रगति अधिकारी डॉ. दिनेश कुमार के अलावा रसायन विज्ञान की प्रवक्ता संध्या राजपूत, जीव विज्ञान प्रवक्ता डॉ. वंदना प्रवीण एवं सहायक अध्यापिका शिल्पी ने विद्यार्थियों की समस्याओं का निस्तारण किया।

ये भी पढ़ें : यूपी बोर्ड परीक्षार्थियों से संवाद करेंगे डीआईओएस

दिशा-निर्देश जारी

रसायन विज्ञान के लिए : 

  • अनुमापन प्रयोग में सदैव स्वयं की निकाली गई रीडिंग उत्तर पुस्तिका में लिखें और गणना करें
  • सान्द्रता निकालने में अज्ञात व माध्यमिक विलयन के रूप में पोटेशियम परमैगनेट विलयन का ही प्रयोग करें
  • अमलीय या भाष्मिक मूलकों में अब सिर्फ एक मूकल की ही पहचान करना है
  • कार्बनिक यौगिकों में वही कार्बनिक यौगिक दिए जाएंगे जो आपके लैब में पूर्व से रखें हों।

जीव विज्ञान के लिए :

  • डीएनए निष्कर्षण के अंतिम चरण में एप्सल्यूट एल्कोहल डालने के वक्त परखनली को हिलाना नहीं है, क्योंकि इससे एल्कोहल नली की परत में आ जाएगा। हिलाने से डीएनए डिजाल्व हो जाता है
  • अभिकर्मकों के बनाने की विधियों का पूर्व में ठीक से अध्ययन कर लें
  • स्पॉटिंग के चित्र यर्थाथ होने चाहिए अन्यथा नकल का आभास होगा। सभी स्पॉट के पहचान के लक्षण अवश्य लिखें
  • अंकुरण की स्लाइड बनाते समय ध्यान रखें कि परागकण अंकुरण के बाद दो या तीन कोशिकीय बनाएं, जिससे वह स्लाइड में दिखे

भौतिक विज्ञान के लिए :

  • ऊष्मा व विद्युत के प्रयोगों में विशेष सावधानी रखें। नंगे तारों व क्षतिग्रस्त उपकरण का ध्यान दें
  • प्रेक्षण लेते समय आंख की स्थिति, उपकरण के अल्पतपांक, शुद्धता का ध्यान रखें
  • आवंटित प्रयोग का सिद्धांत प्रयोग विधि एवं आवश्यक उपकरणों का ध्यान रखें
  •  प्रयोग संबंधी सावधानियों को ध्यान रखना चाहिए। प्रयोग के बाद सभी उपकरणों को व्यवस्थित रख दें।

शिक्षा भवन में ‘प्रयोग परामर्श’ हेल्पलाइन डेस्क के शुभारंभ के बाद फोन पर विद्यार्थियों के प्रयोगात्मक परीक्षा से संबंधित सवालों का जवाब देते हेल्प डेस्क के अधिकारी ’ जागरण

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.