डीएलएड में जितनी सीटें भरीं उससे कहीं ज्यादा रह गईं खालीं

DELEDलखनऊ। डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन (डीएलएड) में इस बार भी छात्रों ने कोई रुचि नहीं दिखाई हालांकि पिछले साल सत्र शून्य घोषित कर दिया गया था। एक साल बाद दाखिले के लिए काउंसिलिंग हुई तो जितनी सीटें भरीं उससे कहीं ज्यादा खाली रह गई हैं। तीनों चरण की काउंसिलिंग खत्म होने के बाद 1,32,766 सीटें खाली हैं। डीएलएड का नया सत्र 11 अक्तूबर से प्रारंभ हो जाएगा। डीएलएड में दाखिले के लिए ऑनलाइन काउंसिलिंग 22 अक्तूबर से प्रारंभ हुई थी, लेकिन छात्रों ने इसमें खास रुचि नहीं दिखाई। काफी संख्या में सीटें रिक्त हैं। यहां तक कि डायट की भी कुछ सीटें रिक्त रह गई हैं। डायट में 10,600 सीटें हैं। इनमें से तीनों चरण में 10,134 सीटों पर दाखिले हुए हैं, जो सीटें रिक्त रह गई हैं वे आरक्षण वर्ग की हैं। डीएलएड की कुल 2,28,900 सीटें हैं। इनमें से 96,134 सीटों पर ही दाखिले हुए हैं जबकि 1,32,766 सीटें रिक्त रह गई हैं। वह भी तब जब पिछला सत्र शून्य घोषित कर दिया गया था।

यह भी पढ़ेंः  केंद्र सरकार ने बेसिक शिक्षा परिषद में 80 हजार शिक्षकों को सरप्लस बताया लेकिन जिले में स्थिति एक दम उलट