स्कूलों में एमडीएम को बंद करने की चेतावनी देते हुए बीएसए को ज्ञापन सौंपा

  

Mid-day-meal-on-attendenceमैनपुरी: मंगलवार को उत्तर प्रदेशीय जूनियर हाईस्कूल पूर्व माध्यमिक शिक्षक संघ ने बेसिक के स्कूलों में एमडीएम को बंद करने की चेतावनी देते हुए बीएसए को ज्ञापन सौंपा। शासन से आई राशि को अभी तक विद्यालयों में नहीं भेजने पर आक्रोश जताया। संघ के जिलाध्यक्ष गो¨वद पांडेय के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने बीएसए कमल सिंह से मुलाकात कर शिक्षक समस्याओं का ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा कि मध्याह्न भोजन की परिवर्तन लागत न मिलने से शिक्षकों के सामने बड़ी समस्या खड़ी हो गई है, मध्याह्न भोजन योजना को संचालित करने में शिक्षक अपनी जेब से हजारों रुपया खर्च कर चुका है। अनुरोध के बाद भी मध्याह्न भोजन के लिए शासन से प्राप्त धनराशि को अब तक विद्यालयों में नहीं भेजा गया है। संघ ने निर्णय लिया है कि परिवर्तन लागत न मिलने की दशा में विद्यालयों में मध्याह्न भोजन बंद किया जाएगा। महामंत्री राजकिशोर यादव ने कहा कि परिषदीय शिक्षकों द्वारा बीएलओ, पदाविहित, सुपरवाइजर, पल्स पोलियो आदि कार्यक्रमों में अवकाश के दिन भी काम किया जाता है। शासनादेश में अवकाश के दिन कार्य करने वाले को प्रतिकर अवकाश की व्यवस्था है, लेकिन बीईओ उक्त अवकाश को स्वीकृत नहीं कर रहे हैं। कोषाध्यक्ष अवधेश शाक्य ने कहा कि प्राथमिक- पूर्व माध्यमिक विद्यालय के अध्यापकों की पदोन्नति कई वर्षों से नहीं की गई है। मंडलीय उपाध्यक्ष नृपेन्द्र शर्मा ने कहा कि शिक्षकों के प्रति बिना पक्ष सुने की जा रही कार्रवाई अनुचित है। ज्ञापन देने वालों में मण्डल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष कृष्ण कुमार, अजय सिंह बैस, मो. रफी, नवीन सक्सेना, सुभाष राजपूत, मानिक चंद्र शर्मा, ब्रह्मानंद गुप्ता, मिथिलेश दीक्षित, अशोक चौहान, विनोद यादव, प्रसून पांडे, सत्यवीर, सत्येंद्र सिंह चौहान, रोहित चौहान, दीपक शाक्य, जितेश गौरव, चंद्रप्रकाश उपस्थित थे।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *