परिषदीय स्कूलों के विद्याíथयों को कोरोना से लड़ने का मंत्र मीना मंच की टोली ऑनलाइन देगी

प्रयागराज : परिषदीय स्कूलों के विद्याíथयों को भी कोरोना से लड़ने का मंत्र मिलेगा। यह मंत्र मीना मंच की टोली ऑनलाइन देगी। जरूरत के अनुसार आफलाइन भी संपर्क करेगी। उन्हें समाज की अन्य कुरीतियों के प्रति भी जागरूक किया जाएगा। बालिकाओं को लैंगिक अपराध से बचने के भी तरीके बताए जाएंगे। स्कूलों में प्रेरक मीना व पॉवर एंजिल का भी चुनाव किया जाएगा। महानिदेशक स्कूल शिक्षा की ओर से सभी खंड शिक्षाधिकारी, जिला समन्वयक बालिका शिक्षा, स्टेट रिसोर्स पर्सन (एसआरजी), तथा अकादमिक रिसोर्स पर्सन (एआरपी) को भी दिशा निर्देश दिए गए हैं।

जिला समन्वयक प्रशिक्षण डा. विनोद मिश्र ने बताया कि स्कूलों के वाट्सएप ग्रुप में मीना की चिट्ठी व अन्य जागरूकता संबंधी जानकारी भेजी जा रही है। प्रेरक मीना का चयन सभी स्कूलों में जल्द किया जाएगा। इस मीना मंच में एक तिहाई बालक भी रहेंगे।

बताया जाएगा कि वह समय समय पर हाथ धुलते रहें। सार्वजनिक स्थल पर एक-दूसरे से शारीरिक दूरी बनाकर रहें। सैनिटाइजर का भी प्रयोग करें। छींकते, खांसते समय मुंह व नाक पर रुमाल जरूर रखें। बुखार, खांसी व सांस लेने में कठिनाई हो तो डाक्टर के पास तुरंत जाएं। हमेशा मास्क पहनें। परिवार के सभी सदस्यों को कोरोना का टीका लगवाने के लिए प्रेरित करें। आंख, नाक या मुंह को बार बार न छुएं। सार्वजनिक स्थानों पर न थूकें।

’परिषदीय स्कूलों में शुरू हुई मीना मंच के गठन की तैयारी

’सहपाठी विद्याíथयों को बताएंगे क्या करें और क्या न करें

मंच के सदस्य सहपाठियों को कविता व गीत से करेंगे सजग

मीना मंच के सदस्य सहपाठियों को कविता व गीत के जरिए जागरूक बनाएंगे। योग व प्राणायाम की सीख देंगे। घर के कार्यो में सहयोग करने, साफ सफाई, पौधे लगाने उनमें पानी देने, अपनी हर बात को माता पिता व बड़ों के समक्ष रखने की नसीहत देने के साथ ही क्राफ्ट, चित्रकला, कबाड़ से जुगाड़ जैसी गतिविधियों को अपनाकर सृजनात्मकता से भी जोड़ने का प्रयास किया जाएगा।