निकट भविष्य में प्रस्तावित कई परीक्षाओं के स्थगित होने के आसार

प्रयागराज : उप्र लोकसेवा आयोग (यूपीपीएससी) के खिलाफ एसटीएफ की हुई बड़ी कार्रवाई से निकट भविष्य में प्रस्तावित कई परीक्षाओं के स्थगित होने के आसार हैं। यूपीपीएससी ने अभी इसका औपचारिक एलान नहीं किया है लेकिन, परीक्षा नियंत्रक का मोबाइल फोन जब्त होने से ऐसे आसार बढ़ गए हैं। प्रस्तावित परीक्षाएं तब तक नहीं हो सकेंगी जब तक कि किसी नए प्रिंटिंग प्रेस का चयन न हो जाए। परीक्षा नियंत्रक के विकल्प पर भी यूपीपीएससी में निर्णय होना अभी बाकी है।

यूपीपीएससी की ओर से 2019 की पहली छमाही में जारी परीक्षा कैलेंडर से घोषित परीक्षाओं में पीसीएस मेंस 2018 घोषित की गई है। जिसे 17 जून के लिए प्रस्तावित किया गया था। इससे पहले नौ जून को सहायक अभियोजन अधिकारी (प्रारंभिक) परीक्षा 2018 प्रस्तावित है। 20 मई को यूपीपीएससी ने दूसरी छमाही का परीक्षा कैलेंडर जारी किया। जिसमें पहली परीक्षा प्रोग्रामर भर्ती के सात जुलाई को प्रस्तावित की गई। इसी भर्ती की एक और परीक्षा 14 जुलाई को प्रस्तावित है। 22 दिसंबर तक की परीक्षाएं इस कैलेंडर में प्रस्तावित हैं। जिसमें सबसे अहम पीसीएस/एसीएफ/आरएफओ 2019 की प्रारंभिक परीक्षा होनी है। परीक्षा कराने से करीब दो माह पहले प्रश्नपत्र तैयार करने की कार्यवाही शुरू हो जाती है। इसलिए निकट भविष्य की कई परीक्षाएं प्रभावित होने के आसार हैं। सचिव जगदीश का कहना है कि एसटीएफ की कार्रवाई में परीक्षा नियंत्रक का मोबाइल फोन जब्त हो गया है। उसी फोन में प्रिंटिंग प्रेस संचालक के नंबर, प्रश्नपत्र तैयार करने के संबंध में विशेषज्ञों के नंबर व अन्य महत्वपूर्ण तथ्य हैं। जांच में मोबाइल फोन से यह सारे तथ्य लिए जा सकते हैं, ऐसे में सभी गोपनीयता भंग होनी तय है। सचिव ने बताया कि ऐसे में निकट भविष्य में परीक्षाएं तब तक नहीं हो पाएंगी जब तक कि नए प्रिंटिंग प्रेस का चयन न हो जाए। परीक्षाएं स्थगित करने का निर्णय यूपीपीएससी की बैठक में किया जाएगा।

एसटीएफ के पत्र को नजरअंदाज करने में सभी की सहभागिता, सीबीआइ जांच से बचते रहे लेकिन, अब ‘पेपर लीक’ कांड से बचना मुश्किलUPPSC

ये भी पढ़ें : UPPSC board on STF radar also

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *