डायट प्राचार्य के निरीक्षण में बंद मिले कई डीएलएड कालेज

  

Answer Keyगाजीपुर : डीएलएड कालेजों का संचालन कागजों पर हो रहा है। डायट प्राचार्य सोमारू प्रधान के निरीक्षण में मंगलवार को कई कालेज बंद मिले और तमाम अनियमितताएं सामने आईं। प्राचार्य द्वारा निरीक्षण की रिपोर्ट सचिव परीक्षा नियामक प्रयागराज एवं निदेशक एससीइआरटी लखनऊ को भेजने के साथ ही कालेज प्रबंधकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। डायट प्राचार्य के निरीक्षण के बाद डीएलएड कालेजों के प्रबंधकों में खलबली मची है।

डायट प्राचार्य सबसे पहले फरिदहां खानपुर स्थित शिव महाविद्यालय (कालेज कोड-450029) पर पहुंचे तो महाविद्यालय बंद मिला। साथ ही डायट की अनुमति की बगैर मुख्य गेट पर शिव स्नातकोत्तर महाविद्यालय का बोर्ड लगा मिला। यहां से प्राचार्य टड़वां खानपुर स्थित रामजीत संस्थान पर पहुंचे, जहां रामजीत संस्थान के नाम से तीन कालेज दिखा। रामजीत संस्थान (कालेज कोड 4500011) में डीएलएड की जगह इंटरमीडिएट की कक्षाएं संचालित होती मिलीं। वहां मौजूद एक निजी कर्मचारी से प्राचार्य ने पूछताछ की तो पता चला कि इंटर की कक्षाएं चल रही हैं। प्राचार्य बगल में स्थित दूसरे रामजीत संस्थान (कालेज कोड-450064) पर पहुंचे तो कालेज बंद मिला, यहां गेट के बाहर डी-फार्मा का बोर्ड लगा मिला। यहीं पर स्थित रामजीत संस्थान (कालेज कोड-450136) बंद मिला। आसपास की इस बिलिं्डग में आइटीआइ कालेज चलता है। यहां से प्राचार्य रजहती बहेरी स्थित गंगा जद्दी बालिका महाविद्यालय का निरीक्षण करने पहुंचे तो कालेज बंद मिला। प्राचार्य ने बताया कि डीएलएड कालेज संचालकों की मनमानी निरीक्षण में सामने आई हैं। पांच विद्यालयों के निरीक्षण में कहीं भी डीएलएड की कक्षाएं चलती नहीं मिली। जानकारी दी कि देखकर लग रहा था कि कई महीने से कक्षाएं नहीं चली है। उन्होंने बताया कि सचिव परीक्षा नियामक प्रयागराज, निदेशक एससीइआरटी लखनऊ को रिपोर्ट भेजने के साथ ही कालेज प्रबंधकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

उन्होंने बताया कि एक माह में दो बार कालेजों का निरीक्षण किया जाएगा, दोनों बार कक्षाएं संचालित होती नहीं मिली तो संबंधित कालेज के डीएलएड प्रशिक्षुओं का आवेदन अग्रसारित नहीं किया जाएगा।

’ एससीइआरटी निदेशक व सचिव परीक्षा नियामक को भेजी रिपोर्ट

’कई कालेजों के प्रबंधकों को कारण बताओ नोटिस जारी

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *