मदरसा बोर्ड: बार कोड से रुकेगी कॉपियों की हेराफेरी

यूपी बोर्ड की तर्ज पर मुंशी, मौलवी, आलिम, कामिल व फाजिल की परीक्षाओं की कॉपियों (उत्तर पुस्तिका) पर बार कोड अंकित होगा। परीक्षा के बाद कॉपियां बदलने के खेल को रोकने के लिए प्रत्येक पाठ्यक्रम की कॉपियों पर अलग बार कोड अंकित होगा। कॉपियों का कोड अटेंडेस शीट पर दर्ज करना होगा।

मदरसा बोर्ड परीक्षा में कॉपियों की हेराफेरी पर अंकुश लगेगा। 25 से राजधानी समेत प्रदेशभर में मुंशी, मौलवी, आलिम, कामिल व फाजिल की परीक्षाएं शुरू होंगी, जो पांच मार्च तक चलेंगी। नकल विहीन परीक्षाएं कराने के लिए उप्र मदरसा शिक्षा परिषद सहित जिला अल्पंसख्यक कल्याण अधिकारी कार्यालय ने अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं। इस बार शहर के छह सेंटरों पर मदरसा बोर्ड की परीक्षाएं होंगी। परीक्षाओं में 79 मदरसों के कुल 4504 परीक्षार्थी शामिल होंगे। वहीं, परीक्षाएं शुरू होने से पहले मदरसा बोर्ड के पोर्टलmadarsaboard.upsdc.gov.in पर अरबी-फारसी एक्जाम 2020 मॉडल पेपर अपलोड कर दिया गया है। मदरसा छात्र मॉडल पेपर डाउनलोड कर परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं। डीएमओ बालेंदु द्विवेदी ने बताया कि मदरसा पोर्टल पर मॉडल पेपर डाउनलोड हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.