पेपर लीक मामले में लोक सेवा आयोग की परीक्षा नियंत्रक का मोबाइल लैपटॉप जब्त

LT grade exam पेपर लीक मामले में लोक सेवा आयोग की परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार के मोबाइल फोन और लैपटॉप से अहम साक्ष्य मिले हैं, जिन्हें स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने जब्त कर लिया है। अब अंजू कटियार की गिरफ्तारी की तैयारी चल रही है। मंगलवार देर रात आयोग मुख्यालय में छापा मारने के बाद एसटीएफ बुधवार को दिनभर छानबीन करती रही। कई फाइलें और दूसरे दस्तावेज भी सील किए गए हैं।

एसटीएफ की वाराणसी टीम ने मंगलवार को कोलकाता निवासी कौशिक कुमार को पेपर लीक मामले में गिरफ्तार किया था। पूछताछ में पता चला कि वह ब्लेसिंग स्क्योर प्रेस प्राइवेट लिमिटेड का मालिक है। इस प्रिंटिंग प्रेस में सरकारी व गैरसरकारी प्रतियोगी परीक्षाओं के प्रश्नपत्रों की गोपनीय छपाई होती है, जिसका मालिक ही पेपर लीक करने का मुख्य सरगना निकला। एसटीएफ को यह भी पता चला कि 26 मई 2019 को कौशिक आयोग स्थित अंजू कटियार के आवास पर गया था और 10 लाख रुपये भी दिए थे। तब उसे अंजू ने पीसीएस का पेपर प्रिंट करने के लिए दिया और बताया था कि मेंस परीक्षा का पेपर है। इस पर देर रात एसटीएफ वाराणसी, प्रयागराज की टीम ने छापा मारा था। सर्च वारंट लेकर पहुंची टीम ने परीक्षा नियंत्रक के कमरा, आलमारी समेत अन्य जगह की तलाशी ली। मोबाइल और लैपटॉप में कई साक्ष्य मिलने पर उसे कब्जे में लिया।

कौशिक से वाट्सएप पर होती थी बातचीत: मोबाइल की जांच में पता चला है कि परीक्षा नियंत्रक और मुख्य आरोपित कौशिक के बीच वाट्सएप पर बातचीत होती थी। एसटीएफ का दावा है कि कौशिक के कंपनी का पूर्व कर्मचारी अशोक देव मुखबिरी कर रहा था, तब इसकी भनक अंजू को लग गई थी।

परीक्षा के संदिग्ध अभ्यर्थियों पर भी कसेगा शिकंजा:  LT grade teacher recruitment examination में प्रश्नपत्र लीक किए जाने का राजफाश करने वाली एसटीएफ जल्द ही जांच का दायरा बढ़ाएगी। 24 घंटे तक अलग-अलग लोगों से हुई पूछताछ के आधार पर उन अभ्यर्थियों का भी ब्यौरा इकट्ठा किया जा रहा है जिनके इस गिरोह में शामिल होने की आशंका है। इससे जिन अभ्यर्थियों तक परीक्षा से पहले प्रश्नपत्र पहुंचने की जानकारी मिली है उन पर भी शिकंजा कसने के आसार हैं। एसटीएफ की एक टीम ऐसे सभी अभ्यर्थियों का डेटा खंगालने में जुटी है। यूपीपीएससी की ओर से 29 जुलाई 2018 को कराई गई एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा में करीब पौने चार लाख अभ्यर्थी शामिल हुए थे।

lt grade teacher recruitment result

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.