एलटी ग्रेड अभ्यर्थियों को रास नहीं आ रही कार्रवाई

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 का विवाद खत्म होता नजर नहीं आ रहा है। अभ्यर्थी हिंदी व सामाजिक विज्ञान विषय का रिजल्ट जारी कराने के लिए आंदोलनरत हैं। इसके बीच उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग के उपसचिव सतीशचंद्र मिश्र ने शनिवार को जीव विज्ञान विषय के कुछ अभ्यर्थियों की ओएमआर आंसर शीट में ओवर राइटिंग व उसे बदलने के संदेह में प्रयागराज के सिविल लाइंस थाना में रिपोर्ट दर्ज करा दी। आयोग की यह कार्रवाई अभ्यर्थियों को नहीं पच रही है। वह इसे भर्ती निरस्त करने की साजिश के रूप में देख रहे हैं।

लोकसेवा आयोग ने 29 जुलाई 2018 को एलटी ग्रेड के 15 विषयों की 10768 पदों की लिखित परीक्षा कराई थी। परीक्षा के दौरान वाराणसी में हिंदी व सामाजिक विज्ञान का पेपर लीक हुआ था। वाराणसी एसटीएफ पेपर लीक प्रकरण की जांच कर रही है। इसके बीच आयोग ने 13 विषयों का रिजल्ट घोषित कर दिया। इसके तहत दो नवंबर 2019 को जीव विज्ञान का 595 पदों का रिजल्ट घोषित किया गया। रिजल्ट घोषित होने के बाद उक्त विषय के चयनित नियुक्ति के लिए आयोग पर दबाव बना रहे हैं। लेकिन, आयोग ने अभी तक चयनितों को नियुक्ति देने के लिए संतुष्टि पत्र शासन को नहीं भेजा गया। इसके बीच ओएमआर शीट में गड़बड़ी का मामला सामने आ गया। एलटी ग्रेड समर्थक मोर्चा के संयोजक विक्की खान का कहना है कि अगर ओएमआर शीट में कोई गड़बड़ी थी तो उसका रिजल्ट कैसे घोषित कर दिया गया? रिजल्ट जारी करने के तीन माह बाद आयोग को ओएमआर शीट में गड़बड़ी नजर आ रही है, जिससे स्पष्ट होता है कि उसकी मंशा एलटी ग्रेड भर्ती को लेकर ठीक नहीं है। लेकिन, अभ्यर्थी आयोग का मनमाना रवैया बर्दाश्त नहीं करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.