लॉकडाउन-4 69000 शिक्षक भर्ती के आवेदकों की परेशानी बढ़ाएगा

कोरोना वायरस के कारण देश के सभी राज्यों में लॉकडाउन चल रहा है इस लॉकडाउन की वजह से सभी साइबर कैफे बंद है. जिसके कारण लॉकडाउन 4 में 69000 सहायक शिक्षक भर्ती के लिए शुरू हो रहे ऑनलाइन आवेदन में आवेदकों को परेशानी का सामना करना पड सकता है. क्योकि ऑनलाइन आवेदन की सुविधा हर किसी के पास न होने के कारण और न ही उन्हें इतनी जानकारी होने की वहज से यह परेशानी उठानी पड़ेगी. अधिकतर अभ्यर्थी साइबर कैफे वाले को 50-100 रुपये देकर फॉर्म भरवाना पसंद करते है. दूसरी समस्या विश्वविद्यालयों के बंद होने के कारण होगी. बड़ी संख्या में ऐसे अभ्यर्थी हैं जिन्होंने अपनी डिग्री व प्रमाणपत्र अब तक नहीं निकाले हैं. शासन ने शिक्षक भर्ती का टाइम टेबल तब जारी किया था लॉकडाउन 17 मई तक ही था लेकिन लॉकडाउन की समय सीमा बढ़ने की वजह से शिक्षक भर्ती के आवेदकों को आवेदन से लेकर काउंसिलिंग करवाने तक हर कदम पर परेशानी का सामना करना पड़ेगा. सबसे पहले आवेदकों को ऑनलाइन आवेदन में ही परेशानी होने जा रही है.

शिक्षक भर्ती काउंसिलिंग के समय अभ्यर्थियों को सभी शैक्षिक व अन्य मूल अभिलेखों व उसकी दो सेट स्व प्रमाणित छायाप्रति, चार पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ और सचिव बेसिक शिक्षा परिषद के पदनाम से निर्धारित आवेदन शुल्क का बैंकड्राफ्ट लेकर प्रतिभाग करना होगा. मूल प्रमाणपत्र नहीं होने पर काउंसिलिंग में प्रतिभाग नहीं कर सकेंगे. तीसरा और सबसे बड़ा परेशानी का मसला ट्रेन, बस व ट्रांसपोर्ट के अन्य साधन बंद होना है. जिलों का ऑनलाइन विकल्प भरने के बाद अभ्यर्थियों को 3 से 6 जून तक काउंसिलिंग के लिए चयनित जिले तक जाने में परेशानी होगी. यदि उन्हें अपने साधन से जाने की इजाजत दे भी दी जाए तो सबके पास अपनी गाड़ी नहीं है और प्राइवेट साधन मिलना आसान नहीं होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.