बीएड TET 2011 के अभ्यर्थियों को अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन करना पड़ा महंगा

बीएड TET 2011 के अभ्यर्थियों को अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन करना महंगा पड़ गया। प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने उन पर लाठियां भांजी। लाठीचार्ज के दौरान भगदड़ मच गई। कुछ प्रदर्शनकारी भाजपा मुख्यालय के सामने सड़क पर लेट गए। इन्हें हटाने के लिए पुलिस ने बर्बरतापूर्ण रवैया अपनाते हुए दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। इस दौरान हजरतगंज व आसपास की सड़कों पर जबरदस्त जाम लग गया।

नौकरी की मांग को लेकर वर्षो से भटक रहे बीएड टीईटी पास अभ्यर्थियों के सब्र का बांध गुरुवार को टूट गया। अपने तय कार्यक्रम के तहत प्रदेश भर के जिलों से आए हजारों की संख्या में अभ्यर्थी चारबाग रेलवे स्टेशन पर इकठ्ठा होकर विधान भवन का घेराव करने के लिए निकल पड़े। प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए अभ्यर्थी जैसे ही विधान भवन के पास पहुंचे, पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया। 1इससे अभ्यर्थी उग्र हो गए।

TET अभ्यर्थी पुलिस से भिड़ गए और दोनों पक्षों के बीच धक्का मुक्की शुरू हो गई। अभ्यर्थियों ने नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन शुरू कर दिया। प्रदर्शनकारियों पर काबू करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए पुलिसकर्मियों ने उन्हें दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। इस दौरान भगदड़ में दर्जनों लोग चोटिल हो गए। जिन्हें सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया।

भाजपा कार्यालय के सामने लेट गए प्रदर्शनकारी  प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थियों ने विधानसभा के सामने सड़क जाम कर दी और भाजपा प्रदेश कार्यालय के सामने सड़क पर लेट गए। इन्हें उठाने के लिए पुलिसकर्मियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। काफी देर तक चले हंगामे के बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को दौड़ा-दौड़ाकरपीटना शुरू कर दिया। फिर इन्हें पकड़ कर लक्ष्मण मेला मैदान भेजना शुरू कर दिया।

अभ्यर्थियों ने दी चेतावनी  हजारों की संख्या में प्रदर्शन कर रहे बीएड टीईटी अभ्यर्थियों का कहना है कि अगर उनकी मांगें पूरी न की गईं तो वह लक्ष्मण मेला मैदान में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठेंगे।

महिला हुई बेहोश, मौके पर नहीं मिली एंबुलेंस लाठीचार्ज के दौरान कई लोगों को गंभीर चोटें आईं तो कई लोग बेहोश भी हुए। फिरोजाबाद जिले के सिरसागंज की रहने वाली अंजू पोरवाल बेहोश हो गईं। महिला साथी की हालत बिगड़ी देख प्रदर्शनकारियों ने एंबूलेंस को फोन किया, लेकिन मौके पर एंबुलेंस नहीं पहुंची। काफी देर बाद पुलिस ने ही बेहोश महिला को सिविल अस्पताल तक पहुंचाया।

पौने तीन लाख पद हैं खाली बीएड टीईटी संघर्ष मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष यज्ञदत्त शुक्ला ने बताया कि आरटीई एक्ट 2009 के तहत प्रदेश में पौने तीन लाख पद खाली हैं। बीएड टीईटी 2011 के आवेदक सभी योग्यताओं को पूरा करते हैं। योग्यता की अनदेखी करके पूर्व सरकार ने इंटर पास शिक्षामित्रों को अध्यापक बना दिया और योग्य अभ्यर्थी अभी तक सड़क पर हैं।

अब हमारी सिर्फ एक ही मांग है कि समस्त टीईटी 2011 पास बीएड अभ्यर्थियों को नियुक्ति देकर सरकार उनकी योग्यता का सम्मान करें। मांगें पूरी न होने पर विधानभवन घेरने प्रदेशभर से पहुंचे थे अभ्यर्थी प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर की नारेबाजी

पढ़ें- UPTET Exam for Shiksha Mitra in November

B.ed TET 2011  Protest

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *