68500 भर्ती बीएड मुद्दे पर लीगल टीम क्या कहती है जानिए

संघर्ष के साथियों नमस्कार—
दोस्तों विपक्षी पार्टी के अधिवक्ता उपेंद्र मिश्रा जी लगातार बीएड के मुद्दे को लेकर बहस कर रहे हैं और वो बहस इस वजह से कर रहे हैं क्योंकि सरकार ने कोर्ट में बोला है कि कट ऑफ मुख्य दो वजह से बढाया गया है, बीएड अभ्यर्थियों की संख्या को देखते हुए और पेपर के पैटर्न को देखते हुए,कुछलोगों का कहना है कि बीएड की रिट जब detag हो गयी है तो बीएड मुद्दे पर बहस क्यों हो रही है,इस मुद्दे पर बहस इसलिए हो रही है क्योंकि बीएड मुद्दा ही कट ऑफ मुद्दे को सीधे-सीधे प्रभावित कर रहा है।

दोस्तो इस मुद्दे पर हमारे दोनो सीनियर अधिवक्ताओ के जूनियर अधिवक्ताओ द्वारा लगातार कल और आज ऑब्जेक्ट किया गया लेकिन कोर्ट ने ऑब्जेक्शन लेने से मना कर दिया क्योंकि जब हमारी बहस होती थी तब कोर्ट विरोधियों को ऑब्जेक्ट करने का मौका नही देती थी। दोस्तो कोर्ट का साफ; साफ कहना है कि आपको बहस करने का पूरा मौका दिया जाएगा,और इसी के परिपेक्ष्य में हमारे सभी जूनियर विपक्षी टीम की बहस के एक -एकबिंदु को नोट करते हैं और रेजॉइंडर पर हर एक बिंदु पर प्रहार के लिए पूरी तरह तैयार हैं। दोस्तो हमारे दोनो सीनियर पूरी तरह से आस्वस्त हैं कि बीएड मुद्दे पर बीएड को कोई नुकसान नही होगा।।दोस्तो अंत मे इतना कहना चाहता हूँ कि जिसप्रकार हमारे दोनो सीनियर की बहस के बाद आपलोग 90-97 के लिए आस्वस्त हो गए थे भरोसा रखें रेजॉइंडर पर हमारे दोनो सीनियर अधिवक्ताओ की बहस के बाद बीएड मुद्दे पर भी आप आस्वस्त होंगे एकबार हमारे सीनियर को बहस करने का मौका तो दें। दोस्तो आज हमारी टीम के सीनियर अधिवक्ता जयदीप सर् 5 मिनट के लिए कोर्ट में आये थे लेकिन उन्होंने कहा कि यदि हमलोग इनको ऑब्जेक्ट करते हैं तो विपक्षी टीम के अधिवक्ता भी ऑब्जेक्ट करेंगे और इससे कोर्ट का समय बरबाद होगा और विपक्षी पार्टी को केस को लंबा खींचने का मौका भी मिल जाएगा।

साथियो एकबात हमेशा याद रखें कि यदि बीएड से आपका हित जुड़ा हुआ तो टीम के सदस्यों का भी उसी से जुड़ा हुआ है, बाकी कुछलोग तो कोर्ट कार्यवाही खत्म होने के बाद भविष्यवाणी कर रहे हैं लेकिन हम हरएक मुद्दे के लिए अभी भी अपने घर से 80 km दूर लखनऊ में मौजूद हैं,बाकी विरोधी तो चप्पलो की तरह हैं जो साथ तो देती हैं लेकिन पीछे से कीचड़ भी उछालती हैं।

नोट–दोस्तो आज सरकार के ब्रीफ़िंग कॉउंसिल अभिनव त्रिवेदी जी और सीनियर माथुर सर् के साथ कुछ बहुत महत्वपूर्ण बिन्दुओ पर चर्चा हुई जिसको सार्वजनिक नही किया जाएगा बस इतना याद रखें कि यह भर्ती बीएड के साथ 90-97 पर ही होगी।

दोस्तों आज विपक्षी टीम के एक अगुवाकार हमसे कोर्ट में बोल रहे थे कि यहाँ से बीएड दफन हो गया तो उनको यह बता देना चाहते हैं कि भैया दफनाए तो तुमलोग दो बार हाइकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट से गए हो और हमारे मजहब में जलाना लिखा है दफनाए तो आपके मजहब के जाते हैं हमने तो आपके 40-45 को जलाने के लिए लकड़ियों का गट्ठर तैयार कर दिया ज्यादा समय नही लेंगे जल्दी ही भैंसाकुण्ड में अंतिम संस्कार किया जाएगा।

धन्यवाद
अखिलेश कुमार शुक्ला
बीएड लीगल टीम
लखनऊ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.