मिड-डे मील की कनवर्जन कॉस्ट में बढ़ोत्तरी

अलीगढ़:  केंद्र सरकार ने सर्व शिक्षा अभियान के तहत परिषदीय व माध्यमिक विद्यालयों के बच्चों को मिलने वाले मिड-डे मील की कनवर्जन कॉस्ट में बढ़ोत्तरी की है। प्राथमिक विद्यालय के प्रत्येक बच्चा 20 और उच्च प्राथमिक विद्यालय के प्रत्येक बच्चा 33 पैसे की बढ़ोत्तरी की गई है। ताकि बच्चों को अधिक और पौष्टिक खाना उपलब्ध कराया जा सके। हालांकि यह आदेश अभी केंद्र सरकार की ओर से जारी हुआ है। प्रदेश सरकार की ओर से भी इस संदर्भ में विभाग को अभी पत्र प्राप्त नहीं हुआ है। .

सर्व शिक्षा अभियान के तहत प्राथमिक, उच्च प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालयों में अध्यनरत बच्चों को निशुल्क मिड-डे मील उपलब्ध कराया जाता है। मिड-डे मील मैन्यू के अनुसार रोजाना बदलता रहता है। रोटी, सब्जी, दाल, चावल के साथ बच्चों को दूध, फल व खीर भी उपलब्ध कराई जाती है। कनवर्जन कॉस्ट कम होने के कारण कई बार बच्चों को उचित मात्रा और पौषक आहार प्रदान करने में परेशानी होती है। इसी को देखते हुए सरकार ने मिड-डे मील की कनवर्जन कॉस्ट को बढ़ाया है। यह कॉस्ट करीब ढाई वर्ष बाद बढ़ाई गई है। अभी तक प्राथमिक स्कूल के प्रत्येक बच्चे को रोजाना 4.13 रुपये का खाना दिया जाता है, जिसे बढ़ाकर 4.35 रुपये किया गया है। इसी प्रकार उच्च प्राथमिक विद्यालय के प्रत्येक बच्चे को 6.18 रुपये का खाना मिलता है, जिसे बढ़ाकर 6.51 रुपये किया गया है। कनवर्जन कॉस्ट बढ़ने से बच्चों को उचित मात्रा में और पौष्टिक आहार उपलब्ध कराया जा सकेगा।

यह भी पढ़ेंः  मिड डे मील प्राधिकरण का निर्देश, बंद स्कूलों में बच्चों को मिले सूखा राशन

मिड-डे मील के जिला समन्वयक खेलेंद्र राणा ने बताया कि कनवर्जन कॉस्ट बढ़ाने का आदेश अभी केंद्र सरकार की ओर से जारी किया गया है। यह आदेश प्रदेश सरकार को मिलने के बाद शासन की ओर से विभाग को इसकी जानकारी दी जाएगी। उन्होंने बताया कि कॉस्ट बढ़ने से बच्चों को पहले से बेहतर भोजन मिल सकेगा।

अब प्राथमिक विद्यालय के बच्चों को 4.35 और उच्च प्राथमिक के बच्चों को 6.51 रुपये का मिड-डे मील.

ढाई वर्ष बाद बढ़ाई गई मिड-डे मील की कनवर्जन कॉस्ट, प्रति बच्चा 20 और 33 पैसे की बढ़ोतरी .