सीबीएसई ने थ्योरी के अलावा प्रैक्टिकल में 30 फीसद काम किया कोर्स, देखे

लखनऊ : बढ़ते संक्रमण को देखते हुए थ्योरी के अलावा सीबीएसई ने प्रैक्टिकल में 30 फीसद कमी की है। ऐसे में कक्षा नौ से 12 तक में विज्ञान विषय में कई प्रैक्टिकल हटाए गए हैं। यह जानकारी विज्ञान संचारक एवं अलीगंज केंद्रीय विद्यालय के प्रवक्ता सुशील कुमार द्विवेदी ने दी।

कक्षा 12 में जीव विज्ञान में हटाए गए प्रयोग की सूची

  • दो अलग-अलग साइडों पर हवा में निलंबित कण पदार्थ की उपस्थिति का अध्ययन
  • क्वाड्रेट विधि द्वारा पौधे की जनसंख्या घनत्व का अध्ययन करना
  • क्वाड्रेट विधि द्वारा पौधे की जनसंख्या आवृत्ति का अध्ययन

कक्षा 11 में जीव विज्ञान में हटाए गए प्रयोग की सूची

  • तने के टीएस का अध्ययन
  • पोटैटो ओस्मोमीटर द्वारा ओसमोसिस का अध्ययन
  • एपिडर्मल पील (लिली के पत्ते या प्याज के बल्ब के स्केल लीफ ) में प्लास्मोलिसिस का अध्ययन
  • पत्तियों की ऊपरी और निचली सतह में वाष्पोत्सर्जन की दरों का तुलनात्मक अध्ययन
  • उपयुक्त पौधे और एनिमल में सुगर, स्टार्च, प्रोटीन और वसा की उपस्थिति के लिए परीक्षण करना
  • यूरिन अर्थात मूत्र में यूरिया की उपस्थिति के लिए परीक्षण करना
  • पौधों की कोशिकाओं के आकार ऊतक और विविधता का अस्थाई और स्थाई स्लाइड के द्वारा अध्ययन करना
  • रूट स्टेम एवं रूट में विभिन्न मॉडिफिकेशन का अध्ययन करना
  • विभिन्न प्रकार के पुष्पक्रम (सिमोस और रेसमोसे)
  • मानव कंकाल और विभिन्न प्रकार के जोड़ों को केवल आभासी छवियों व मॉडल की मदद से अध्ययन करना
यह भी पढ़ेंः  UPSESSB: प्रवक्ता-11 के 15 विषयों की आंसर-की जारी

कक्षा 12 में बायोटेक्नोलॉजी में हटाए गए प्रयोगों की सूची

  • जीनोमिक डीएनए का सीटैब विधि से अलगाव
  • किसी भी प्लास्मिड का उपयोग करके जीवाणु परिवर्तन
  • प्लास्मिड डीएनए का और जेल इलेक्ट्रोफोरेसिस द्वारा इसका विश्लेषण

इनका होगा अध्ययन

  • परमानेंट स्लाइड या स्कैनिंग इलेक्ट्रॉन माइक्रोग्राफ के माध्यम से स्टिग्मा पर पराग कण अर्थात का अंकुरण
  • किसी भी पौधे के विभिन्न रंगों व आकारों के बीजों का उपयोग करके वंशानुक्रम का अध्ययन

कक्षा 11 में बायोटेक्नोलॉजी में हटाए गए प्रयोगों की सूची

  • प्रयोगशाला में व्यावहारिक परिणाम और सुरक्षा नियमों की रिकॉर्डिग
  • बैक्टीरियल ग्रोथ कर्वे का निर्धारण
  • दूध प्रोटीन का अलगाव
  • माइटोसिस के विभिन्न चरणों का अध्ययन और माइटोटिक इंडेक्स की गणना
  • कायरेटाइप की तैयारी
यह भी पढ़ेंः  शिक्षा विभाग द्वारा निजी स्कूलों के भवनों की जांच कराए जाने पर सीबीएसई स्कूलों के प्रबंधकों ने किया विरोध

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.