प्राथमिक शिक्षक भर्ती के लिए लखनऊ में 28 जून को विशाल महाधरना

लखनऊ:- प्रदेश के बेसिक शिक्षा विभाग में खाली पड़े पदों को भरने के लिए विगत 22 जून से प्रदेश के कई जिलों के डीएलएड ,बीएड,बीटीसी प्रशिक्षित SCERT निशांतगंज लखनऊ में धरना दे रहे हैं। प्रशिक्षितों का कहना है कि हम सरकार द्वारा बेसिक शिक्षक भर्ती के के लिए संचालित कोर्स डीएलएड बीटीसी बीएड करके और आवश्यक अध्यापक पात्रता परीक्षा टेट/सीटेट पास करके 2 साल से बेरोजगार बैठे हैं, और सरकार बेसिक शिक्षा विभाग के रिक्त पदों पर विज्ञप्ति ही नहीं जारी कर रही है।जबकि सरकार 69 हजार शिक्षक भर्ती मामले में सुप्रीम कोर्ट में दाखिल अपने हलफनामे में कहा था कि आज हमारे पास 51112 पद रिक्त हैं, लेकिन उसके बाद 2 वर्ष बीत गए और बेसिक शिक्षा विभाग में हजारों की संख्या में शिक्षक सेवानिवृत्त हुए हैं, तब भी आज तक विज्ञप्ति नहीं जारी की गई,यह चिंता का विषय है जिससे आज लगभग 10 लाख डीएलएड बीटीसी बीएड पात्र प्रशिक्षित बेरोजगारी की मार झेल रहे हैं, जबकि पिछले दिनों प्रदेश सरकार ने पात्रता परीक्षा प्रमाण पत्र की मान्यता आजीवन कर दी है, तो यह संख्या और अधिक है।

इन्ही मांगों को लेकर आम डीएलएड, बीएड, बीटीसी प्रशिक्षित पात्र प्रशिक्षु विभिन्न जिलों से आकर लखनऊ में डटे हुए हैं, और 28 जून दिन सोमवार जो कि इस धरने का 7 वाँ दिन है,जिसे प्रशिक्षितों ने महाधरना का दिन नाम दिया है तथा प्रदेश के सभी डीएलएड ,बीटीसी बीएड प्रशिक्षित अध्यापकों से आवाहन किया है की भारी संख्या में पहुंचकर अपनी माँग को मजबूती प्रदान करें ।और प्रशिक्षुओं का कहना है जब तक उनकी मांगें मानी नहीं जाती और उन्हें कोई संतोषजनक आश्वासन नहीं मिलता वह scert लखनऊ से नहीं हटेंगे। बेरोजगार मंच के संस्थापक राकेश पाण्डेय उर्फ बंटी पाण्डेय का कहना है कि सोमवार को भारी संख्या में प्रशिक्षु विभिन्न जिलों से लखनऊ पहुँच रहे हैं।हमारी मांग है कि सरकार जल्द से जल्द 97 हजार पदों पर विज्ञापन जारी करे वरना ये आंदोलन लगातार जारी रहेगी।