CTET 2019 Exam की बेहतर तैयारी कैसे करें, उससे संबंधित पूरी जानकारी पढ़े

CTET Exam होने में कुछ ही दिन शेष बचे है। चंद दिनों में सीटेट एग्जाम का एडमिट कार्ड भी वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जायेगा। सीटेट एग्जाम को लेकर अभ्यर्थियों के ज़हन में तरह तरह के सवाल आ रहे होंगे जैसे तैयारी कैसे करें, कौन कौन से टॉपिक्स महत्वपूर्ण हैं, सबसे पहले किस विषय की तैयारी की जाये। ये सवाल भी जायज हैं। प्रत्येक वर्ष सीटेट की परीक्षा में लाखों छात्र शामिल होते हैं, लेकिन इसमें सभी उत्तीर्ण नहीं हो पाते। चूंकि अब इस एग्जाम में ज्यादा दिन नहीं बचे हैं, इसलिए सुनियोजित तरीके से तैयारी करनी जरूरी है। यहां कुछ टिप्स बताए जा रहे हैं जो आपके काम आएंगे:

1- सीटेट एग्जाम की तैयारी करने से पहले सिलेबस को अच्छी तरह पढ़े और ये सुनिश्चित करे की उसमें कोनसा विषय आपको आसान और सबसे कठिन लग रहा है। इस आधार पर सबसे पहले आसान विषयों की तैयारी पहले करना शुरू कर दे। इससे आपके दो फायदे होंगे। एक तो आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और दूसरा, आपका आधा सिलेबस जल्दी ही तैयार हो जाएगा और आप कठिन विषयों पर ज्यादा फोकस कर पाएंगे।

2- सीटेट एग्जाम की तैयारी के लिए एनसीईआरटी की किताबों को ज्यादा तरजीह दें। विभिन्न सैंपल पेपर्स और अनसॉल्व्ड पेपर्स से भी तैयारी कर सकते हैं, लेकिन एनसीईआरटी को ज्यादा तवज्जो दें। प्रत्येक वर्ष सीटेट एग्जाम में कुछ सवाल नैशनल करिकुलम फ्रेमवर्क और एनसीईआरटी से भी पूछे जाते हैं।

3- सीटेट की परीक्षा की तैयारी करते समय पिछले 4-5 सालों की परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों को भी अच्छी तरह से तैयार कर लें क्योंकी कई बार बीते सालों के प्रश्न भी पूछ लिए जाते हैं।

4-परीक्षा की तैयारी बेहतर और कम समय में करने के लिए मॉक टेस्ट आपके लिए काफी सहायक सिद्ध होगा। इससे आपको यह फायदा होगा की आपको अपनी कमी जानकर उसमे सुधार कर पाएंगे और आपको अपनी परीक्षा की तैयारी का स्तर भी ज्ञात होगा

5- परीक्षा की तैयारी के लिये अपना दिन भर का एक निर्धारित शेड्यूल बनाएं और सभी विषयों के लिए समय बाँट लें और इसके साथ ही सप्ताह में एक बार एक प्रश्नपत्र तैयार करके परीक्षा में निर्धारित अवधि में हल करने की कोशिश करें।

6- करंट अफेयर्स और मैथ्स व् साइंस के फॉर्म्युले, राजनीति जैसे विषयों पर अपनी पकड़ अच्छी रखें। सभी फॉर्मूलों को एक जगह लिख कर उन्हें रोजाना याद करें और लिख कर भी देखें

7- इसके साथ ही Child Development And Pedagogy सेक्शन की भी अच्छी तरह से तैयारी कर लें क्यूंकि परीक्षा के प्रथम भाग में इनसे सम्बंधित कई महत्वपूर्ण प्रश्न हर साल पूछे जाते हैं।

8- परीक्षा की तैयारी में कम समय रह जाने पर आप नए टॉपिक्स की तैयारी करने के बजाय जो अब तक पढ़ा है उसी का अच्छे तरीके से रिविज़न करें जिससे प्रश्न का सही उत्तर दे सकें इस परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग नहीं है यानि आपका उत्तर गलत होने पर आपका कोई अंक नहीं काटा जायेगा इसलिए सभी प्रश्नों का जवाब दें और किसी भी प्रश्न को न छोड़ कर न आएं

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *