बोर्ड परीक्षा में नकल पर नकेल के लिए अब हाईटेक निगरानी

यूपी बोर्ड ने इस बार हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा में नकल पर नकेल के लिए हाईटेक इंतजाम किए हैं। इसके तहत एक और जहां सीसीटीवी कैमरों, वायस रिकॉर्डर और ब्रॉड बैंड कनेक्शन के जरिए सभी 7784 परीक्षा केंद्रों की ऑनलाइन वेब टेलीकास्ट से निगरानी की तैयारी है, वहीं परीक्षा में कॉपियां बदलने का खेल रोकने के भी इंतजाम किए गए हैं। बोर्ड परीक्षा में इस बार परीक्षार्थियों के बीच चार अलग-अलग रंगों की कॉपियां बांटी जाएंगी।

शुक्रवार को उप मुख्यमंत्री डॉ.दिनेश शर्मा ने राजधानीस्थित माध्यमिक शिक्षा निदेशक कार्यालय के राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम व मॉनीटरिंग सेंटर का उद्घाटन करते हुए दावा किया कि नकल माफिया अब किसी भी कीमत पर कॉपियों की अदला-बदली नहीं करा पाएंगे। बोर्ड परीक्षा की कॉपियां गुलाबी, पीले, हरे व नीले रंग की होंगी। यह कॉपियां सिली हुई होंगी और इन पर क्रमांक भी दर्ज होगा, ताकि इनके ऊपर का पेज बदला न जा सके। करीब ढाई हजार संवेदनशील व अति संवेदनशील केंद्रों तथा 18 जिलों में निगरानी की विशेष व्यवस्था की गई है। इसमें बलिया, अलीगढ़, मेरठ व बागपत प्रमुख हैं।

ये भी पढ़ें : राजधानी में यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए बनाए गए सेंटर, पिछली बार से 6 सेंटर कम बने

‘बी’ कॉपियां भी अलग-अलग रंग की होंगी। किस संवेदनशील व अति संवेदनशील परीक्षा केंद्र पर किस रंग की कापियां भेजी जा रही हैं, इसकी जानकारी किसी को नहीं होगी। इस बार 18 फरवरी से शुरू हो रही हाईस्कूल की परीक्षा तीन मार्च और इंटरमीडिएट की परीक्षा छह मार्च को खत्म होगी। परीक्षा के साथ मूल्यांकन का समय भी घटाया गया है। इस बार रिजल्ट 24 अप्रैल को घोषित कर दिया जाएगा। इंटरमीडिएट में भी इस बार एक विषय में फेल विद्यार्थी को कंपार्टमेंट परीक्षा की सुविधा दी जाएगी। मुख्य परीक्षा के रिजल्ट के एक महीने के भीतर कंपार्टमेंट परीक्षा होगी।

परीक्षार्थियों की निगरानी के साथ मदद करेगा कंट्रोल रुम: हर जिले में एक ऑनलाइन कंट्रोल रूम के साथ राज्य स्तर पर भी कंट्रोल रुम बनाया गया है। यहां से प्रदेश के किसी भी परीक्षा केंद्र की निगरानी लाइव टेली वेबकास्ट से की जा सकेगी। यहां प्रत्येक मंडल के अनुसार डेस्क बनाई गई है, जिसमें 60 कंप्यूटर व कर्मचारी लगाए गए हैं। इसमें दो हेल्प लाइन नंबर 1800-180-6607 व 0522-2239198 पर विद्यार्थी सुबह सात बजे से शाम सात बजे के बीच अपनी समस्या दर्ज करा सकेंगे। शिकायतों का निस्तारण 24 घंटे में होगा। वहीं ईमेल से भी शिकायत दर्ज कराई जा सकेगी।

दूसरे प्रदेशों के अब केवल 5946 परीक्षार्थी: नकल पर सख्ती व आधार नंबर से रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था के कारण इस बार दूसरे प्रदेशों से यूपी में बोर्ड परीक्षा देने आ रहे विद्यार्थियों की संख्या घटकर केवल 5946 रह गई है।

यूपी बोर्ड परीक्षार्थी एक नजर में

  • हाईस्कूल – 30,22,607
  • इंटरमीडिएट – 25,84,511
  • कुल परीक्षार्थी – 56,07,118।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.