विवाहिता पुत्री को आश्रित कोटे में नियुक्ति देने पर विचार का हाईकोर्ट ने दिया निर्देश

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एसपी बांदा को पुलिस कांस्टेबल की विवाहिता पुत्री को मृतक आश्रित कोटे में नियुक्ति देने पर विचार कर निर्णय लेने का एसपी बांदा को निर्देश दिया है। कोर्ट ने कहा है कि विवाहिता पुत्री भी परिवार में शामिल है। यह आदेश न्यायमूर्ति सरल श्रीवास्तव ने पुष्पा देवी की याचिका पर दिया है।

याची अधिवक्ता का कहना था कि याची के पिता पुलिस कांस्टेबल थे। महिला थाने में तैनात थे। सेवाकाल में 22 अप्रैल 20 को उनकी मृत्यु हो गई। याची ने जनवरी 21 में मृतक आश्रित कोटे में नियुक्ति देने की अर्जी दी है। किंतु कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। मंजुल श्रीवास्तव केस के फैसले का हवाला देते हुए याची ने नियुक्ति की मांग की है। कोर्ट ने याची को नये सिरे से दो हफ्ते में अर्जी देने और एसपी बांदा को सकारण दो माह में निर्णय लेने का निर्देश दिया है।
Chhattisgarh News in Hindi पढने के लिए प्राइमरी का टीचर पर डेली विजिट करें