गुरू जी डीएम के इम्तिहान में हो गए पास

  

विश्वनाथगंज : जिले के हाकिम ने शुक्रवार को निरीक्षण के दौरान मॉडल प्राइमरी स्कूल मानधाता के शिक्षक का ज्ञान परखा। उनसे कहा कि ब्लैक बोर्ड पर यक्ष युधिष्ठिर संवाद लिख कर दिखाओ। हालांकि गुरू जी उनके इम्तिहान में पास हो गए। बच्चों की कम संख्या पर नाराजगी जताते हुए कहा कि बच्चों की संख्या बढ़ाइए, अन्यथा दूर दूसरे ब्लाक में तबादला कर दिया जाएगा। यहां बच्चे स्कूल के बाहर पढ़ते मिले।

डीएम ने शुक्रवार को दोपहर मॉडल प्राइमरी स्कूल का मानधाता का निरीक्षण करने पहुंचे थे। स्कूल के कमरों के प्लास्टर व किचन की फर्श टूटी हुई थी। स्कूल की रंगाई पोताई भी नहीं हुई थी। विद्यालय के शिक्षक अनुज प्रताप सिंह को बुलाकर कहा कि ब्लैक बोर्ड पर यक्ष युधिष्ठिर संवाद लिखकर दिखाइए। शिक्षक ने ब्लैक बोर्ड डस्टर से साफ किया और इसे लिखकर दिखा दिया। डीएम शिक्षक से संतुष्ट हुए तो बच्चों का रजिस्टर देखना शुरू किया।

कक्षा एक में पंजीकृत 17 में से पांच, कक्षा दो में 19 में से आठ, कक्षा तीन में 21 में से दो, कक्षा चार में 13 में से चार तथा कक्षा पांच में 15 में से सात बच्चे उपस्थित पाए गए। स्कूल में कुल 26 छात्र-छात्रएं उपस्थित मिले। इस पर डीएम ने अध्यापकों को निर्देशित करते हुए कहा कि छात्रों की उपस्थिति एक सप्ताह के अंदर बढ़ाएं अन्यथा अन्य ब्लाकों में तबादले की कार्रवाई की जाएगी। डीएम ने शिक्षक से पूछा कि बच्चे बाहर क्यों पढ़ रहे हैं, कमरे तो हैं। इस पर अनुज प्रताप सिंह ने बताया कि अंदर की कमरों की छत टूटी हुई है, पुरानी बिल्डिंग है, इसलिए बच्चे बाहर पढ़ रहे हैं।

इसके पूर्व उन्होंने खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय का निरीक्षण किया। यहां पर गंदगी का अंबार देख कर नाराजगी जताई। आसपास बड़ी-बड़ी घास उगी हुई थी। उन्होंने इसकी तत्काल सफाई कराने का निर्देश दिया। खंड शिक्षा अधिकारी आशीष पांडेय गैर हाजिर मिले। इन्हें कारण बताओ नोटिस देने का निर्देश दिया। कार्यालय के संदीपधर मिश्र, कौशल मिश्र, प्रदीप शर्मा, जयप्रकाश का वेतन रोकते हुए कहा कि जब तक गंदगी साफ नहीं होती, ऑफिस ठीक से नहीं चमकेगा, इनका वेतन न दिया जाए। डीएम ने मॉडल प्राइमरी स्कूल में शिक्षक का परखा ज्ञान, खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में गंदगी पर कर्मियों का रोका वेतन

डीएम के आदेश पर भी नहीं हुई निलंबन की कार्रवाई

प्रतापगढ़ : डीएम के निर्देश के तीन दिन बाद भी राज्य अध्यापक पुरस्कार प्राप्त पूर्व माध्यमिक विद्यालय लक्ष्मणपुर के प्रधानाध्यापक जय प्रकाश का निलंबन नहीं हो सका। इसके पीछे बीएसए को डीएम का पत्र न मिलना माना जा रहा है। तीन दिन पूर्व डीएम ने विद्यालय के निरीक्षण के दौरान पंजाब की राजधानी चंदौली बताने वाले प्रधानाध्यापक को निलंबित करते हुए दूसरे ब्लाक में तबादले का निर्देश बीएसए को दिया था।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *