भोजन वितरण की गुणवत्ता व स्वच्छता की हकीकत जानने के लिए शासन के अधिकारी निरीक्षण करेंगे

  

Basicगोरखपुर,। परिषदीय स्कूलों में मिड डे मील व कस्तूरबा विद्यालयों में भोजन वितरण की गुणवत्ता व स्वच्छता की हकीकत जानने के लिए शासन के अधिकारी निरीक्षण करेंगे। गोरखपुर-बस्ती मंडल में जनपदवार अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। जो निरीक्षण के उपरांत अपनी रिपोर्ट शासन को उपलब्ध कराएंगे। निरीक्षण नौ से 10 तथा 13 से 14 दिसंबर के बीच किया जाएगा।

न्‍यूनतम पांच स्‍कूलों का निरीक्षण करेंगे नोडल अधिकारी

निरीक्षण के लिए जिन अधिकारियों को जिस जनपद का नोडल बनाया गया है वह उस जिले के अलग-अलग विकास खंडों के नगरीय व ग्रामीण क्षेत्रों के न्यूनतम पांच प्राथमिक व जूनियर स्कूलों में मिड डे मील वितरण का प्रभावी मनिटरिंग करेंगे। मानिटरिंग के उपरांत तय प्रपत्र पर अपनी रिपोर्ट तैयार करेंगे। नोडल अधिकारी निश्शुल्क यूनीफार्म, स्वेटर, जूता-मोजा व स्केल बैग के लिए दी जा रही डीबीटी प्रणाली की स्थिति भी जाचेंगे। निरीक्षण के बाद संबंधित निदेशालय व प्राधिकरण को अधिकारी अपने स्तर से सूचित करेंगे और इन पर त्वरित कार्रवाई करते हुए सुधार की कार्रवाई की जाएगी।

गोरखपुर-बस्ती मंडल के जिलों में इन्हें मिली जिम्मेदारी

गोरखपुर में समन्वयक प्रशिक्षण मध्याह्न भोजन प्राधिकरण, बस्ती व महराजगंज में एडी बेसिक डा.सत्य प्रकाश त्रिपाठी, कुशीनगर में गोरखपुर के डायट प्राचार्य डा.भूपेंद्र कुमार सिंह, सिद्धार्थनगर में बस्ती के उप प्राचार्य डायट केएस वर्मा, देवरिया में कुशीनगर डायट के वरिष्ठ प्रवक्ता जावेद आलम आजमी तथा संत कबीर नगर में सलाहकार समग्र शिक्षा पीएम अंसारी को नोडल अधिकारी के रूप में स्थलीय निरीक्षण की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

भोजन की गुणवत्‍ता की मिल रही थी शिकायतें

गोरखपुर मंडल के एडी बेसिक डा. एसपी त्रिपाठी ने बताया कि शासन ने स्कूलों में समय-समय पर भोजन की गुणवत्ता को लेकर मिल रही शिकायतों व योजनाओं का सही ढंग से क्रियान्वयन हो रहा है या नहीं इस पर इसकी हकीकत जानने के लिए स्थलीय निरीक्षण कराने का निर्णय लिया है। निरीक्षण के उपरांत संबंधित अधिकारी शासन को रिपोर्ट सौपेंगे। जिसके आधार पर शासन स्तर से कार्रवाई की जाएगी।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *