प्राइमरी स्कूल में स्मार्ट हो रहा ‘भविष्य’

साफ-सुथरा परिसर, स्मार्ट क्लास, सीसी कैमरे, आरओ वाटर, कुर्सी-मेज, भोजन के लिए अलग कक्ष। यह सुनते ही मन-मस्तिष्क में कॉन्वेंट स्कूल की तस्वीर उतर आती है, पर यह कॉन्वेंट नहीं, मखदूमपुर का प्राथमिक विद्यालय है। हाईटेक संसाधनों से लैस इस स्कूल में बच्चों का भविष्य स्मार्ट हो रहा है।

मखदूमपुर प्राथमिक विद्यालय में सुविधाएं कॉन्वेंट स्कूल से कमतर नहीं हैं। खास बात है कि यहां पढ़ाई अंग्रेजी माध्यम से होती है। गोमतीनगर विस्तार महासमिति ने दो साल पहले प्राथमिक विद्यालय मखदूमपुर को गोद लिया था। ग्राम प्रधान सुरेश यादव के सहयोग से महासमिति ने इस विद्यालय की दशा और दिशा बदल दी। अब यहां पुराने के साथ ही नए बच्चे भी हाईटेक माहौल में अध्ययन करते हैं। उन्हें प्रोजेक्टर के जरिए पाठ्यक्रम को समझने में आसानी होती है। अब इसी राह पर मलेशेमऊ के भी विद्यालय हैं। वहां भी जल्द ये सारी सुविधाएं मुहैया होंगी।

तीन और विद्यालयों को लिया गोद : महासमिति ने अब गोमतीनगर विस्तार में मलेशेमऊ के तीन विद्यालय- प्राथमिक विद्यालय बालक, प्राथमिक विद्यालय बालिका और पूर्व माध्यमिक विद्यालय को भी गोद लिया है। इन विद्यालयों को भी संसाधनों से संपन्न बनाया जा रहा है, जिससे इनमें पढ़ने वाले बच्चों को अच्छा माहौल मिल सके।

मख्दूमपुर के सामान्य सरकारी स्कूल की बिल्डिंग हो गई है जगमग ’ जागरण

गोमतीनगर विस्तार महासमिति ने दो साल पहले प्राथमिक विद्यालय मखदूमपुर को लिया था गोद

बच्चों के बनेंगे आइडी कार्ड समिति के महासचिव उमाशंकर दुबे ने बताया कि इन स्कूलों को जन सहयोग से संवारा जा रहा है। संसाधनों के साथ ही इन विद्यालयों में साफ-सफाई और पेंटिंग भी कराई जा रही है। विद्यालय में गार्डन विकसित किया जा रहा है।, जिसमें नए-नए रंग बिरंगे फूल के पौधे लगाए जाएंगे। इसके अलावा कॉन्वेंट स्कूलों की तर्ज पर यहां के बच्चों के लिए पहचान पत्र की व्यवस्था भी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.