प्रदेश के युवाओं ने भी रोजगार के मुद्दे पर बुधवार को सरकार के विरुद्ध मोर्चा खोला

प्रयागराज : प्रदेश के युवाओं ने भी रोजगार के मुद्दे पर बुधवार को सरकार के विरुद्ध मोर्चा खोला। युवा मंच के आह्वान पर ‘योगी रोजगार दो’ दिन भर ट्रेंड करता रहा। शाम पांच बजे तक एक लाख से ज्यादा ट्वीट हुए। ट्विटर पर मुहिम के अलावा युवाओं ने किसानों के पक्ष में प्रदर्शन भी किया।

प्रदेश में रिक्त पड़े पदों को न भरने, लंबित भíतयों को लटकाए रखने और चयनित अभ्यíथयों को जानबूझकर नियुक्ति न देने से युवा सरकार से खफा हैं। अब पांच जून को फिर युवा प्रदर्शन करेंगे। अधीनस्थ सेवा चयन आयोग में ही आठ भíतयों की परीक्षा नहीं हुई है। कृषि प्राविधिक सहायक, युवा कल्याण अधिकारी सहित कई भíतयों के चयनित अभ्यíथयों की नियुक्ति को रोका गया है। प्राथमिक विद्यालयों में रिक्त पदों का विज्ञापन जारी करने का आश्वासन दिया गया था, लेकिन अब सरकार इन पदों को ही खत्म करने पर आमादा है। बिना वजह एलटी जीआइसी के सामाजिक विज्ञान व हिंदी के चयनित अभ्यíथयों की नियुक्ति नहीं दी जा रही है। अभियान का नेतृत्व युवा मंच के संयोजक राजेश सचान, अध्यक्ष अनिल सिंह, कार्यकारिणी सदस्य राम बहादुर पटेल, प्रयागराज से ईशान गोयल व बीएल चौधरी, चंदौली से आलोक राय, सोनभद्र से सूरज कोल, प्रतापगढ़ से मनोज पटेल, एके पाल फतेहपुर के नेतृत्व किया गया।

प्राथमिक शिक्षक भर्ती निकाले सरकार

प्रदेश के युवा प्राथमिक शिक्षक भर्ती की मांग लगातार कर रहे हैं। बुधवार को एक बार फिर ट्विटर पर बड़ी संख्या में ट्वीट किए गए। सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दिया था कि प्राथमिक शिक्षकों के रिक्त 51 हजार से अधिक पद रिक्त हैं और जल्द ही भर्ती दी जाएगी, शिक्षा मित्रों को एक और मौका दिया जाएगा। युवा बेरोजगार मंच के संस्थापक राकेश पांडेय उर्फ बंटी पांडेय ने कहा कि जून तक प्रक्रिया शुरू नहीं हुई तो छात्र आंदोलन करेंगे। बेसिक शिक्षा विभाग में पिछले चार वर्षो से कोई नई भर्ती नहीं हुई है। जो 68500 और 69000 शिक्षकों की भर्ती हुई है, वह सुप्रीम कोर्ट से समायोजन रद होने की वजह से हुई।