आइएएस-पीसीएस के लिए फ्री कोचिंग, तीन हजार रुपये मिलेगा वजीफा

लखनऊ : विकास के इस डिजिटल युग में अब देव भाषा संस्कृत भी कदमताल करने लगी है। पुराणों से निकलकर आम लोगों तक पहुंचने वाली सभी भाषाओं की जननी संस्कृत अब आइएएस और पीसीएस की तैयारी करने वाले युवाओं की पसंद बन गई है। उप्र संस्कृत संस्थानम् की ओर से ऐसे विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करने के लिए लखनऊ में निश्शुल्क कोचिंग की शुरुआत करने के बाद अब छह और जिलों में इसके विस्तार की कवायद शुरू हो गई है। इसके लिए विद्यार्थियों का चयन कोरोना के चलते आनलाइन परीक्षा से होगा।

गोरखपुर, प्रयागराज, वाराणसी, बरेली, आगरा व झांसी में संस्कृत की निश्शुल्क कोचिंग खोलने की तैयारी चल रही है। गोरखपुर में विद्यार्थियों का चयन हो चुका है। वहीं, प्रयागराज व वाराणसी में अगले महीने से चयन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। आनलाइन आवेदन के साथ ही चयन। एक केंद्र में 75 विद्यार्थियों का चयन होगा।

तीन हजार रुपये मिलेगा वजीफा

आइएएस और पीसीएस की परीक्षा की तैयारी करने वाले 21 से 35 वर्ष आयुवर्ग के ऐसे युवाओं का चयन किया जाएगा, जिनका ऐच्छिक विषय संस्कृत होगा। परीक्षा और साक्षात्कार में चयनित युवाओं की निश्शुल्क कोचिंग के साथ ही उन्हें प्रतिमाह तीन हजार रुपये वजीफा भी मिलेगा। विद्यार्थी संस्कृत संस्थानम् की वेबसाइट http://upsanskritsansthanam.in/ पर जानकारी ले सकते हैं।

संस्कृत विषय में तैयारी करने वालों को मिलेगी सुविधा, एक केंद्र में 75 विद्यार्थियों का होगा चयन