शिक्षक भर्ती में धांधली को लेकर अभ्यर्थियों ने यूपीपीएससी परिसर में किया आंदोलन

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती 2018 के अभ्यर्थियों ने परीक्षा निरस्त करने के लिए संगठन युवा मंच ने सोमवार को यूपीपीएससी पर एक और आंदोलन किया। विरोध और नारेबाजी के दौरान संगठन युवा मंच के प्रतिनिधि मंडल को भीतर बुलाकर उनसे बातचीत करने की कोशिश की गई। लेकिन, प्रतिनिधि मंडल की यूपीपीएससी के अध्यक्ष से मिलकर बात करने की मांग पूरी नहीं हो साकी। प्रदर्शनकारियों ने तय किया कि 16 अगस्त को कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजेंगे।

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा यूपीपीएससी ने 29 जुलाई को कराई थी। उसके पहले से ही परीक्षा में धांधली, फर्जीबाड़े और अनियमितता के आरोप लगने शुरू हो गए थे जो अब तक जारी हैं। युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह, संयोजक राजेश सचान आदि ने आंदोलन को जारी रखते हुए यूपीपीएससी के समक्ष कई अभ्यर्थियों के साथ विरोध जताया। इनका कहना था कि परीक्षा को निरस्त कर नए सिरे से परीक्षा कराई जाए। कुछ समय बाद यूपीपीएससी के उपसचिव ने इनसे मुलाकात की। फिर प्रतिनिधि मंडल को यूपीपीएससी परिसर के भीतर बुलाया गया। संगठन युवा मंच के प्रतिनिधि मंडल ने चेयरमैन से मिलने की मांग की, लेकिन चेयरमैन ने प्रतिनिधि मंडल से मिलने से मन कर दिया। जिससे अभ्यर्थी आक्रोशित होते हुए परिसर के बाहर आ गए। तय किया कि 16 अगस्त को कलेक्ट्रेट में एकत्र होकर प्रदर्शन करेंगे।

पहले जताया विरोध, फिर मना जश्न : परिषदीय स्कूलों में 68500 सहायक अध्यापक भर्ती का रिजल्ट जारी करने में लेटलतीफी का विरोध करने तमाम अभ्यर्थी परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पहुंचे। लेकिन, सहायक अध्यापक भर्ती का रिजल्ट दोपहर बाद जारी हो गया तो उनके चेहरे खिल उठे। 68500 सहायक अध्यापक भर्ती का रिजल्ट 30 जुलाई को ही जारी होना था। लेकिन, परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय इलाहाबाद की ओर से परिणाम में हो रही देरी पर अभ्यर्थी पहले भी आक्रोशित थे। अभ्यर्थियों ने लखनऊ में भी प्रदर्शन कार चुका है।

पढ़ें- Assistant Teacher Recruitment 2018 Written Exam Results Declared

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *