छह माह बाद निलंबित पूर्व सचिव सुत्ता सिंह बहाल

68500 सहायक शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा में गंभीर गड़बड़ियों के कारण निलंबित परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालयकी पूर्व सचिव सुत्ता सिंह को 6 महीने बाद बहाल हो गई हैं। हाईकोर्ट के आदेश पर शासन ने पूर्व सचिव की बहाली की है। साथ ही साथ यह भी कहा है कि पूर्व सचिव पर अनुशासनिक कार्रवाई चलती रहेगी। फिलहाल उन्हें पूर्व सचिव सुत्ता सिंह को बेसिक शिक्षा निदेशक के शिविर कार्यालय से संबद्ध किया गया है।

प्राथमिक विद्यालयों की 68500 सहायक अध्यापक भर्ती की लिखित परीक्षा का रिजल्ट 13 अगस्त को घोषित किया था। शिक्षक भर्ती का परिणाम आते ही अभ्यर्थियों ने अनियमितताओं को लेकर हंगामा किया। उसी दरमियान एक अभ्यर्थी का मामला हाईकोर्ट पहुंचा और जाँच में पता चला उसकी कॉपी बदल दी गई है। यह प्रकरण सीएम तक पहुंचा। शासन ने तत्कालीन परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव डा. सुत्ता सिंह को 8 सितंबर 2018 को निलंबित कर दिया था। पूर्व सचिव के अलावा भी कई अफसरों पर कार्रवाई की गई थी। निलंबन के दौरान तय समय में उन्हें आरोप पत्र नहीं दिया गया, बाद में उन्हें आरोप पत्र मिला तो उसे पूर्व सचिव ने हाईकोर्ट में चुनौती दी।

कोर्ट ने 14 मार्च 2019 को अंतरिम आदेश देते हुए पूर्व सचिव सुत्ता सिंह के निलंबन पर रोक लगा दी थी, साथ ही शासन से जवाब-तलब किया। पूर्व सचिव सुत्ता सिंह 18 मार्च को परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पहुंची थी, लेकिन शासन ने उसे नहीं माना। अब विशेष सचिव आनंद सिंह ने जारी पत्र में कहा है कि हाईकोर्ट के आदेश पर उनका निलंबन खत्म करके सेवा में बहाल कर दिया गया है।

पूर्व सचिव सुत्ता सिंह को शिविर कार्यालय से संबद्ध कर दिया गया है। आदेश में यह भी कहा है कि उन पर चल रही अनुशासनिक कार्यवाही चलती रहेगी। विशेष सचिव ने आदेश में यह भी लिखा है कि पूर्व सचिव की तैनाती के संबंध में अलग से आदेश जारी किया जाएगा।Sutta Singh Latest News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.