विद्यार्थियों को इस गर्मी की छुट्टी का मिड डे मील में अनाज नहीं मिलेगा

सरकारी व सहायताप्राप्त स्कूलों के विद्यार्थियों को इस गर्मी की छुट्टी का मिड डे मील में अनाज नहीं मिलेगा। इस वर्ष केवल परिवर्तन लागत के रूप में धनराशि दी जाएगी। चूंकि सरकार प्रधानमंत्री गरीब अन्न कल्याण योजना के तहत मई व जून में राशन दे चुकी है लिहाजा एमडीएम में राशन नहीं देने का निर्णय हुआ है। इस संबंध में केन्द्र सरकार ने फैसला लेने के बाद राज्य सरकारों से बुधवार को प्रस्ताव मांगे हैं। यूपी के कक्षा एक से आठ तक के स्कूलों में 20 मई से 15 जून तक गर्मी की छुट्टियां होती हैं।

प्रधानमंत्री गरीब अन्न कल्याण योजना के तहत मई और जून में प्रति व्यक्ति 5-5 किलो अतिरिक्त अन्न (चावल/गेहूं) मुफ्त में दिया गया है। वहीं राज्य सरकार भी जून से अगस्त तक निःशुल्क राशन दे रही है। एमडीएम के नियमों के मुताबिक, प्राकृतिक आपदा मसलन बाढ़ सूखे आदि में गर्मी की छुट्टियों का एमडीएम दिया जाता है।

अब महामारी में भी दिया जा रहा है। पिछले वर्ष भी गर्मी की छुट्टियों में अनाज व परिवर्तन लागत दी गई थी। सरकार पिछले वर्ष मार्च से अब तक तीन चक्रों में एमडीएम का राशन व कन्वर्जन कॉस्ट दे चुकी है।

सरकार अभी तक नौ फरवरी तक का अनाज व कन्वर्जन कॉस्ट के आदेश जारी कर चुकी है। इस बीच 10 फरवरी से जूनियर व एक मार्च से प्राइमरी स्कूल खोले गए। लेकिन इनमें 24 मार्च से फिर छुट्टियां हो गई हैं।