बोर्ड परीक्षा केंद्रों पर खामियां, शुचितापूर्ण परीक्षा कराना चुनौती

संतकबीर नगर : माध्यमिक शिक्षा परिषद के हाईस्कूल व इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षा के लिए पांच राजकीय, 29 सहायता प्राप्त के साथ 52 वित्तविहीन विद्यालय केंद्र बनाएं गए है।इस बार विद्यालय में समुचित व्यवस्था के बाद भी सहायता प्राप्त विद्यालयों को केंद्र नहीं बनाया गया है। जबकि कैमरा आदि सुविधाओं के अभाव के बाद भी राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों को वरीयता दी गई है। राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय जामडीह, सालेहपुर, महुली व रमजंगला में परीक्षा करानी चुनौती बनी हुई है।

शिकायतों की भरमार : बोर्ड परीक्षा केंद्र घोषित होते ही शिकायतें आने लगी है। प्रधानाचार्य छात्रओं का केंद्र दूर होने, तो अधिक संख्या का आवंटन होने की शिकायत हैं।

परीक्षा केंद्र निर्धारण के जांच की मांग: माध्यमिक शिक्षा परिषद हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा केंद्रों की शिकायत थमने का नाम नहीं ले रही है। आपत्तियों के निस्तारण के बाद भी शिकायतें आ रही हैं। सोमवार को साधूशरण चौरसिया इंटर कालेज लहरी-सुअहरा के प्रबंधक सिद्धनाथ ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र दिया। परीक्षा केंद्र में मनमानी बरतने का आरोप लगाया। उनका कहना है कि शिक्षण कक्षों की संख्या को नियमानुसार नहीं दर्शाया गया। अनेक विद्यालयों में प्रधानाचार्य के रिपोर्ट को बढ़ाकर शिक्षण कक्ष व अन्य रिपोर्ट लगाया गया है। जिस कालम में कोई अंकन नहीं करके हां दर्शाया गया था। इसे बदलकर मनमाने रूप से केंद्र निर्धारित किए गए हैं।

जिले में एक राजकीय कन्या इंटर कालेज, 13 राजकीय उमावि के साथ 34 सहायता प्राप्त विद्यालय हैं। इसके बाद 225 वित्तविहीन विद्यालय हैं। बौरव्यास में गत वर्ष नकल की शिकायत पर दागी होने पर केंद्र नहीं बनाया गया। पचपोखरी में प्रबंध विवाद, करहना, अमथी निघुरी में चहारदीवारी व अन्य व्यवस्था न होने से केंद्र नहीं बनाया गया। बालिकाओं के साथ बालकों का केंद्र दूर भेजने की शिकायत पांच दर्जन से अधिक स्कूल करा चुके हैं। इसके साथ दो दर्जन से अधिक विद्यालय केंद्र पाने के लिए एडी-चोटी का जोर लगा रहे हैं।

बोर्ड परीक्षा में हाईस्कूल में 29,704 व इंटरमीडिएट में 24,443 छात्र-छात्रएं संस्थागत हैं। व्यक्तिगत में हाईस्कूल में 103 व इंटरमीडिएट में 773 छात्र-छात्रएं हैं। इस संबंध में गिरीश कुमार सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक ने बताया कि परीक्षा केंद्र की अंतिम सूची जारी कर दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.