आगामी 18 जुलाई को प्रस्तावित संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा की तिथि में फिर बदलाव होने की उम्मीद

लखनऊ : आगामी 18 जुलाई को प्रस्तावित संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा की तिथि में फिर बदलाव हो सकता है। लखनऊ विवि ने तैयारियां पूरी न हो पाने की वजह से शासन को पत्र लिखकर और समय मांगा है। विश्वविद्यालय प्रशासन का कहना है कि कोविड-19 की वजह से अभी तैयारियां पूरी नहीं हो पाई हैं। इसलिए प्रवेश परीक्षा के लिए थोड़ा और समय देते हुए नई तिथि घोषित की जाए।

लविवि को इस बार फिर से शासन ने बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा कराने की जिम्मेदारी सौंपी है। प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के लिए पांच लाख 91 हजार 252 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। यह आंकड़ा पिछले साल से अधिक है। विश्वविद्यालय ने सबसे पहले 19 मई को प्रवेश परीक्षा प्रस्तावित की थी, लेकिन कोरोना की वजह से इसे स्थगित कर दिया गया। फिर शासन ने नई तिथि 18 जुलाई तय की। बीएड प्रवेश परीक्षा की राज्य प्रवेश समन्वयक प्रो. अमिता बाजपेयी का कहना है कि कोविड की वजह से तैयारियां पूरी नहीं हो पाईं हैं। कई जिलों से परीक्षा केंद्र फाइनल नहीं हो सके हैं। इसलिए शासन को पत्र भेजकर परीक्षा के लिए समय बढ़ाने का अनुरोध किया है।

15 सौ केंद्रों पर होगी परीक्षा: संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा के लिए इस बार आवेदन अधिक आए हैं। पिछले साल चार लाख 31 हजार 904 अभ्यर्थियों के लिए एक हजार 89 परीक्षा केंद्र बने थे। इस बार पांच लाख 91 हजार 252 आवेदन आए हैं। इसलिए करीब 15 सौ परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे।