यूपी बोर्ड 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं जुलाई के दूसरे सप्‍ताह में होने की उम्मीद

उत्‍तर प्रदेश के शिक्षा मंत्री दिनेश शर्मा ने आज 29 मई को जानकारी दी है कि राज्‍य में 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं जुलाई के दूसरे सप्‍ताह में आयोजित की जा सकती हैं. उन्‍होंने जानकारी दी कि परीक्षा के पैटर्न में भी बदलाव किया जाएगा. लगभग 27 लाख छात्र इस वर्ष यूपी बोर्ड 12वीं की परीक्षा में शामिल होने वाले हैं जिन्‍हें अब नये पैटर्न के अनुसार परीक्षा देनी होगी.

शिक्षामंत्री के अनुसार, परीक्षा 3 घंटे के बजाय केवल डेढ़ घंटे यानी 90 मिनट की होगी. परीक्षा में कुल 10 प्रश्‍न पूछे जाएंगे जिसमें से 3 के जबाव देने होंगे. शिक्षा विभाग कोरोना महामारी की स्थिति का जायज़ा लेने के बाद बोर्ड परीक्षाओं की डेट्स पर कोई फैसला लेगा. उन्‍होंने कहा कि यदि परिस्थितियां सुधरती हैं तो जुलाई के तीसरे सप्‍ताह में ऑफलाइन परीक्षाएं आयोजित की जा सकती हैं.

इसके साथ ही यूपी बोर्ड 10वीं की परीक्षाएं रद्द भी कर दी गई हैं. शिक्षामंत्री ने बताया कि कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए 10वीं के एग्‍जाम रद्द किए जा रहे हैं. बोर्ड पहले ही स्‍कूलों से छात्रों को प्री-बोर्ड, मंथली टेस्ट और 9वीं के फाइनल एग्‍जाम के मार्क्‍स की मांग कर चुका है. राज्‍य के स्‍कूलों ने 24 मई तक छात्रों के नंबरों का डाटा बोर्ड को सौंप दिया था जिसके आधार पर अब छात्र प्रमोट किए जाएंगे.

(अभिषेक मिश्रा के इनपुट के साथ)