यूपी बोर्ड की इंटर परीक्षा भी निरस्त होना तय, तैयारी पूरी

सीबीएसई की 12वीं परीक्षा रद होने के फैसले के बाद अब यूपी बोर्ड की इंटर परीक्षा भी रद होना तय है। अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जल्द ही यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा के संबंध में बैठक करके निर्णय लेंगे। वैसे यूपी बोर्ड ने मई में ही इंटर के परीक्षार्थियों को प्रमोट करने की तैयारी कर ली थी। सचिव ने 22 मई को ही सभी कालेजों से कक्षा 12 की प्रीबोर्ड और 11 की छमाही व वार्षिक परीक्षा के अंक मांगे थे। 28 मई तक अधिकांश स्कूल ब्योरा भेज चुके हैं।

उप मुख्यमंत्री डा.दिनेश शर्मा ने बताया कि यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट के विद्यार्थियों की परीक्षाएं जुलाई के दूसरे हफ्ते में प्रस्तावित हैं, लेकिन जल्द मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय बैठक कर इस पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा। परिस्थितियों को देखते हुए परीक्षा कराने या रद करने पर निर्णय होगा।

मालूम हो कि यूपी बोर्ड हाईस्कूल की परीक्षाएं पहले ही रद कर 29.9 लाख विद्यार्थियों को कक्षा 11वीं में प्रोन्नत करने का फैसला कर चुका है। अब इंटर के 26.10 लाख विद्यार्थियों को प्रोन्नति का तोहफा जल्द दिया जा सकता है।

मुख्यमंत्री योगी ने किया फैसले का स्वागत
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम के सीबीएसई 12वीं की परीक्षा रद करने फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने इसे देशभर के छात्रों की स्वास्थ्य सुरक्षा की दिशा में बढ़ाया गया महत्वपूर्ण कदम बताया है।