साल के अंत तक नहीं हो पाई यूपीटीईटी की परीक्षा, अभ्यर्थी मायूस

  

नई दिल्ली,। साल 2020 में कोरोना की महामारी के बाद जैसे ही साल 2021 ने दस्तक दी थी तो हजारों-लाखों अभ्यर्थियों की आंखों में सपने सजे कि यह साल उनके लिए उम्मीदों से भरा होगा, उनको भविष्य में बेहतर मौके मिलेगे। साल 2020 में आई कोरोना महामारी के चलते छात्र-छात्राओं के करियर को जो नुकसान हुआ है, आने वाले साल यानी कि 2021 में इसकी भरपाई हो सकेगी। लेकिन सरकारी शिक्षक बनने के मामले में तो यह सपना ही रह गया। साल की शुरुआत से उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा के आयोजन और फिर स्कूलों में बतौर टीचर नियुक्ति का इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों के लिए पूरा साल मायूसी भरा ही रहा।

उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा बोर्ड (UPBEB) की ओर से आयोजित होने वाली यूपीटीईटी की परीक्षा साल 2021 की शुरुआत में होनी थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2020 में राज्य में शिक्षक भर्ती के लिए आयोजित नहीं हो पाई यूपीटीईटी परीक्षा इस साल की शुरुआत में होनी थी।

15 मार्च को जारी हुआ था सबसे पहले शेड्यूल

यूपीबीईबी ने सबसे पहले साल की शुरुआत में 15 मार्च, 2021 को यूपीटीईटी 2021 एग्जाम शेड्यूल जारी किया गया था। इसके अनुसार, यूपीटीईटी 2021 की नोटिफिकेशन 11 मई को जारी होनी थी और आवेदन 18 मई से 1 जून 2021 तक शुरू होने की संभावना जताई गई थी। वहीं टाइमटेबल के मुताबिक 25 जुलाई को परीक्षा आयोजित होनी थी, लेकिन, अप्रैल में आई COVID-19 की दूसरी लहर के चलते, अधिकारियों ने UPTET परीक्षा को स्थगित कर दिया था।

अक्टूबर में शुरू हुई रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया
जुलाई में स्थगित होने वाली परीक्षा के लिए अक्टूबर में रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू हुई थी। इसके अनुसार 25 अक्टूबर तक फाॅर्म जमा कराए गए। इसके साथ ही 28 नवंबर, 2021 को परीक्षा आयोजित करने का फैसला हुआ।

28 नवंबर को पेपर लीक
28 नवंबर को यूपी TET की परीक्षा दो पालियों में होनी थी। पहली पाली में सुबह 10 से 12.30 बजे के बीच प्राथमिक स्तर और दूसरी पाली में दोपहर 2.30 से 5 बजे के बीच उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा होनी थी। पहली पाली में 2554 केंद्र और दूसरी के लिए 1754 केंद्र बनाए गए थे। इसमें प्राथमिक स्तर में 1291628 और जूनियर स्तर में 873553 अभ्यर्थी को शामिल होना था। लेकिन पहली पाली की परीक्षा शुरु होने से पहले ही खबर आ गई है कि पेपर लीक हो चुका है। इसके बाद कुछ वक्त बाद ही खबरें आने लगी कि मेरठ, प्रयागराज सहित अन्य शहर में पर्चा लीक हो गया है। इसके बाद से ही परीक्षा लीक होने के मामले पर कार्रवाई चल रही है। इसके साथ ही अभ्यर्थी नई परीक्षा तिथियों का इंतजार कर रहे हैं। अब साल खत्म होने में चंद दिन ही बचे हैं। ऐसे में इतने कम समय में परीक्षा आयोजित हो पाना मुश्किल ही लग रहा है।

सीटीईटी के इंतजार में भी गुजरा साल
सीटीईटी परीक्षा का हाल भी कुछ ज्यादा बेहतर नहीं है। हालांकि सीबीएसई बोर्ड की ओर से जारी शेड्यूल के मुताबिक अब 16 दिसंबर से परीक्षा का आयोजन होना है लेकिन साल की शुरुआत से उम्मीदवार इस परीक्षा का भी इंतजार कर रहे हैं।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *