शिक्षकों को पांच महीने बाद भी नहीं किया विद्यालय का आवंटन

आजमगढ़: परिषदीय विद्यालयों में 214 शिक्षक गैर जनपद से पारस्परिक स्थानान्तरित हो आये हैं। इन शिक्षकों को पांच महीने बाद भी बेसिक शिक्षा विभाग की तरफ से विद्यालय का आवंटन नहीं किया गया। यह सभी शिक्षक बगैर काम किए करीब एक करोड रूपये का भुगतान ले रहे हैं। विद्यालय आवंटित न होने से शिक्षक काफी परेशान हैं।

जिले में फरवरी माह में 214 शिक्षक अन्तर जनपदीय पारस्परिक स्थानान्तरण होकर बीएसए कार्यालय पर आकर अपना कार्यभार ग्रहण किये। इन्हें शासन की तरफ से आनलाइन विद्यालय आवंटित होना है। लेकिन पांच माह बीत जाने के बाद भी अभी तक शासन की ओर से इन शिक्षकों को विद्यालय आवंटित नहीं किया गया है। शिक्षको को विद्यालय आवंटन न होने से सभी शिक्षक बीएसए कार्यालय पर अपनी उपस्थित दर्ज करा कर बिना काम किये घर को रवाना हो जाते हैं। जबकि इन सभी शिक्षको पर बेसिक शिक्षा विभाग करीब करोड़ रूपये वेतन घर बैठे दिया जा रहा। विभाग की तरफ से कोई जिम्मेदार अधिकारी ये बताने वाला नहीं है कि इन शिक्षको कब तक विद्यालय आवंटित होगा। विद्यालय आवंटन न होने से शिक्षक काफी परेशान है। विद्यालय आवंटन क्यों रोकी गई। इसका भी विभाग बता पाने में असमर्थता जता रहा। उप बेसिक शिक्षाधिकारी महेन्द्र प्रसाद ने कहा कि शिक्षको को विद्यालय आवंटन शासन स्तर से आनलाइन होना है। वहीं से मामला लंबित है। शिक्षक सुमन यादव,अरविंद यादव व सुजीत कुमार ने बताया कि हम लोगों को विद्यालय न मिलने से काफी दिक्कते हो रही है। विभाग कभी कोविड कंट्रोल में ड्यूटी लगा देता है, तो कभी अन्य काम में ड्यूटी लगा दी जाती है। सभी लोग बहुत परेशान हैं।