मार्च से जून तक के एमडीएम भत्ते के लिए आकलन शुरू

  

प्रदेश सरकार एक बार फिर मिड डे मील के रूप में खाद्यान्न व परिवर्तन राशि को खाद्यान्न भत्ते के रूप में देने के लिए आकलन करेगी। प्रदेश के स्कूल 24 मार्च से बंद चल रहे हैं और मुख्यमंत्री ने 15 मई तक स्कूल बंद करने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद गर्मी की छुट्टियां शुरू हो जाएंगी। लिहाजा अब 30 जून तक के एमडीएम के लिए खाद्यान्न व परिवर्तन राशि दी जाएगी।

एमडीएम के लिए राज्य सरकार केन्द्र सरकार को प्रस्ताव भेजेगी। इससे पहले सरकार ने मार्च में सितंबर से फरवरी तक की अवधि का मिड डे मील भत्ता जारी कर दिया था। कक्षा छठवीं से आठवीं तक विद्यालय 10 फरवरी से जबकि कक्षा पहली से पांचवीं तक के विद्यालय एक मार्च से आफलाइन पढ़ाई के लिए खोले गए थे। तीसरे चरण में कक्षा पांच से आठ तक 124 दिन का भत्ता और कक्षा एक से पांच तक 138 दिन का भत्ता दिया जा रहा है। एमडीएम की गाइडलाइन के मुताबिक प्राकृतिक आपदा की स्थिति में गर्मी की छुट्टियों में भी एमडीएम उपलब्ध कराया जाता है। इससे पहले सूखे की स्थिति में एमडीएम उपलब्ध कराया जाता रहा है। लेकिन पिछले वर्ष महामारी के कारण एमडीएम दिया गया था। 1.80 करोड़ विद्यार्थियों को इससे लाभ मिलेगा।

पहले चरण में-
24 मार्च से 30 जून तक 76 दिनों के लिए
प्राइमरी स्कूल के विद्यार्थी को 374 रुपए
उच्च प्राइमरी स्कूल के विद्यार्थी को 561 रुपए

दूसरे चरण में-
एक जुलाई से 31 अगस्त तक 49 दिन के लिए
प्राइमरी स्कूल के विद्यार्थी को 243.50 रुपए
उच्च प्राइमरी स्कूल के विद्यार्थी को 365 रुपए

तीसरे चरण का मिड डे मील
उच्च प्राइमरी स्कूल के विद्यार्थी को 124 दिन के लिए 923 रुपए
प्राइमरी स्कूल के विद्यार्थियों को 138 दिन के लिए 685 रुपए

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *