प्राथमिक स्कूलों में शिक्षा व्यवस्था जिम्मेदारों के मनमानी की भेंट चढ़ी

  

Basic(अमेठी)। कोविड संक्रमण के बाद एक सितंबर से खुले प्राथमिक स्कूलों में शिक्षा व्यवस्था जिम्मेदारों के मनमानी की भेंट चढ़ रही है। जामो ब्लॉक के सात यूपीएस में एक शिक्षक के भरोसे नौनिहाल शिक्षित हो रहे हैं। शिक्षकों की कमी से प्रभावित शिक्षण कार्य से लोगों मेें आक्रोश बढ़ रहा है, वहीं जिम्मेदार मौन हैं।

कायाकल्प योजना से परिषदीय स्कूलों का साैंदर्यीकरण कर निजी स्कूलों की तर्ज पर संचालित करने की कोशिश जामो विकास खंड में कामयाब होती नजर नहीं आ रही। बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से शिक्षकों की नियुक्ति के बावजूद कई स्कूल एक शिक्षक के भरोसे संचालित हो रहे हैं।

जामो ब्लॉक में संचालित 40 उच्च प्राथमिक स्कूलों में सात स्कूलों में शिक्षण व्यवस्था मात्र एक शिक्षक के भरोसे है। ब्लॉक क्षेत्र के यूपीएस नंदमहर, बसंतपुर, जनापुर, बघैया कमालपुर, बरेहटी, आदिलपुर व भवानीगढ़ में छात्र संख्या होने के बावजूद विभाग एक शिक्षक के भरोसे संचालित कर रहा है।
ऐसे में जहां शिक्षा व्यवस्था प्रभावित हो रही है वहीं लोगों में आक्रोश बढ़ रहा है। मामले की जानकारी होने के बावजूद बेसिक शिक्षा विभाग ने मौन साध रखा है। शिक्षकों की कमी जहां विभागीय दावों की पोल खोल रही है वहीं इकलौते शिक्षक के बीमार होने की दशा में स्कूल बंद होने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।
किसी तरह चलाया जा रहा काम
बीईओ सतीश कुमार सिंह ने शिक्षकों की कमी से शैक्षिक व्यवस्था प्रभावित होने की बात कही। उन्होंने कहा कि पूरे मामले की जानकारी बीएसए को देकर शिक्षक की मांग की गई है। शिक्षक-शिक्षिकाओं की कमी होने के बावजूद बच्चों को शिक्षित किया जा रहा है।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *