कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय हादसा, छात्राओं के ऊपर मिट्टी का टीला गिरा

  

kasturbaफाफामऊ (प्रयागराज): फाफामऊ के गोहरी गांव स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में रविवार सुबह गड्ढा भरने के लिए खोदाई कर रहीं छात्राओं के ऊपर मिट्टी का टीला गिर गया, जिसमें पांच छात्राएं दब गईं। लोगों ने मलबे को हटाकर छात्राओं को बाहर निकाला। तीन की हालत गंभीर देखते हुए अस्पताल में भर्ती कराया गया।

छात्राओं के परिवारीजनों व ग्रामीणों ने विद्यालय की वार्डेन पर जबरन कार्य कराने का आरोप लगाते हुए नारेबाजी की। एसडीएम ने जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया। विद्यालय की छात्राओं से रविवार सुबह मिट्टी का टीला खोदकर गड्ढे को बराबर कराया जा रहा था। इसी बीच अचानक मिट्टी का टीला उनके ऊपर गिर गया।

पांच छात्राएं मलबे में दब गईं। चीख-पुकार सुनकर आसपास के लोग पहुंचे और राहत कार्य में जुट गए। काफी मशक्कत के बाद छात्राओं को बाहर निकाला गया। इसमें वर्षा (15), रागिनी (14) निवासी बेचू का पूरा गोहरी, अंकिता (12) निवासी लूसनपुर सोरांव, दीक्षा व साक्षी शामिल थीं। सभी को अस्पताल ले जाया गया, जहां दीक्षा और साक्षी को उपचार के बाद विद्यालय भेज दिया गया, जबकि रागिनी, अंकिता व वर्षा की हालत गंभीर देखते हुए बेली अस्पताल भेजा गया।

अंकिता को स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में भर्ती कराया गया। एसडीएम सोरांव ज्योति मौर्य, बीएसए प्रवीण कुमार तिवारी, बीईओ वरुण मिश्रा, थानाध्यक्ष फाफामऊ अनिल वर्मा पहुंचे। इसपर छात्राओं के स्वजन व ग्रामीण वार्डेन आरती सिंह पर जबरन कार्य करने का आरोप लगाते हुए नारेबाजी शुरू कर दी। हंगामा देख अधिकारियों ने समझाया। संबंधित सामग्री 7

’मलबे में आधे घंटे तक सांसत में पड़ी रही छात्राओं की जान, तीन गंभीर रूप से घायल ’छात्राओं से जबरन कराई जा रही थी मिट्टी की खोदाई, ग्रामीणों ने किया हंगामा

मलबे में पांच छात्राएं दब गईं थीं। इसमें दो को मामूली चोट आई है, जबकि तीन को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामले की जांच की जा रही है और जो भी इसमें दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। – प्रवीण कुमार तिवारी, बेसिक शिक्षा अधिकारी।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *