प्रश्नपत्र छापने का ठेका लेने वाली दिल्ली की कंपनी के निदेशक राय अनूप प्रसाद को नोएडा से गिरफ्तार किया

  

STFउत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 2021 का प्रश्नपत्र लीक होने के मामले में एसटीएफ ने प्रश्नपत्र छापने का ठेका लेने वाली दिल्ली की कंपनी के निदेशक राय अनूप प्रसाद को नोएडा से गिरफ्तार कर लिया है। दिल्ली के बदरपुर स्थित आरएसएम फिनसर्व लिमिटेड ने प्रश्नपत्र मुद्रण का ठेका लिया था।दिल्ली में प्रश्न पत्र छापने वाली प्रिंटिंग प्रेस के मालिक राय अनूप प्रसाद की ओखला में प्रिंटिंग प्रेस है। वर्तमान में वह दिल्ली में ही रह रहा था।

यूपी एसटीएफ की जांच में सामने आया कि कंपनी के निदेशक अनूप ने ठेका लेने के बाद दिल्ली की ही एक दूसरी प्रिंटिंग प्रेस में पेपर छपवाए थे और इस दौरान ही पेपर लीक हो गया। इस पूरे प्रकरण में कुछ अन्य लोगों की भूमिका की भी गहनता से छानबीन की जा रही है। एसटीएफ जल्द ही कुछ अन्य आरोपितों को भी गिरफ्तार कर सकती है। कंपनी के असुरक्षित ढंग से पेपर छपवाने के साथ ही प्रश्नपत्र विभिन्न जिलों की ट्रेजरी में पहुंचाए जाने के दौरान भी लापरवाही बरते जाने की बात सामने आई है। एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार का कहना है कि अब तक की छानबीन में किसी जिले में पेपर की सील खुली होने की बात सामने नहीं आई है। कई बिंदुओं पर छानबीन जारी है।

एसटीएफ की नोएडा इकाई ने यह कार्रवाई की है। एडीजी एसटीएफ अमिताभ यश ने बताया कि जांच में सामने आया कि टीईटी 2021 के प्रश्नपत्र के मुद्रण के लिए 26 अक्टूबर 2021 को सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी, प्रयागराज ने मोहन कापरेटिव एरिया फेस-टू, बदरपुर दिल्ली स्थित आरएसएम फिनसर्व लिमिटेड कंपनी के निदेशक राय अनूप प्रसाद को वर्क आर्डर दिया गया था। पेपर लीक होने में अनूप प्रसाद की भूमिका सामने आने पर उसे 29 नवंबर को एसटीएफ के नोएडा कार्यालय बुलाया गया था, जहां लंबी पूछताछ के बाद अनूप प्रसाद को गिरफ्तार कर लिया गया।

पूछताछ में आरोपित अनूप प्रसाद ने बताया कि उसके पास पेपर प्रिंट करने के लिए अपनी कोई सुरक्षित व्यवस्था नहीं थी। वर्क आर्डर हासिल करने के बाद उसने एक अन्य प्रिंटिंग प्रेस में प्रश्नपत्र छपवाए थे। प्रश्नपत्र के मुद्रण के दौरान गोपनीयता व सुरक्षा मानकों की सीधी अनदेखी सामने आने पर अनूप प्रसाद को गिरफ्तार कर लिया गया है। एसटीएफ ने गौतमबुद्धनगर के सूरजपुर थाने में अनूप प्रसाद व चार अन्य आरोपितों के विरुद्ध धोखाधड़ी व आपराधिक षड्यंत्र की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। अनूप प्रसाद के चार अन्य साथियों की भी तलाश की जा रही है।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *