पॉलीटेक्निक छात्रों के लिए डिजिटल लॉकर Digital Locker for Polytechnic Students

यदि आप पॉलीटेक्निक की प्रवेश परीक्षा देने जा रहे हैं और अपने मूल दस्तावेजों के खोने के डर से परेशान हैं तो आपकी यह परेशानी दूर होने वाली है। संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद की ओर से सभी अभ्यर्थियों के लिए डिजिटल लॉकर बनाने की तैयारी की जा रही है। आवेदन करने वाले करीब पांच लाख अभ्यर्थियों का डिजिटल लॉकर बनेगा।

संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद की ओर से पॉलीटेक्निक प्रवेश पूर्व काउंसिलिंग के दौरान अभ्यर्थियों को अपने दस्तावेजों को लाने की जरूरत होती है। दस्तावेजों के खोने के डर से अभ्यर्थी परेशान रहते थे। उनकी इस परेशानी को ध्यान में रखते हुए डिजिटल लॉकर की व्यवस्था की जा रही है।

ऐसे काम करेगा लॉकर : संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद की वेबसाइट (जेईईसीयूपी.एनआइसी.इन ) के माध्यम से प्रवेश परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र डाउनलोड होने शुरू हो जाएंगे। इसी के साथ ही छात्रों का डिजिटल लॉकर बनाने और पासवर्ड देने का कार्य शुरू हो जाएगा। डीजीलॉकर.जीओवी.इन की साइट पर जाकर अभ्यर्थी अपने प्रवेश पत्र के साथ ही हाईस्कूल व इंटर की मार्कशीट व प्रमाण पत्र के साथ ही ड्राइ¨वग लाइसेंस, आधार कार्ड व बैंक पासबुक सहित अन्य जरूरी दस्तावेज स्कैन करके रख सकेंगे। जरूरत पड़ने पर किसी भी साइबर कैफे में जाकर दस्तावेजों की फोटो कॉपी निकाली जा सकेगी। संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद के सचिव एसके वैश्य ने बताया कि पिछली बार भी ऐसा किया गया था। इस बार भी डीजी लॉकर बनाने की तैयारी की जा रही है।

दाखिले की ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू

यदि आप पॉलीटेक्निक की प्रवेश परीक्षा देने की तैयारी कर रहे हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है। आपका इंतजार खत्म हो गया है। नए साल के पहले दिन से ही आवेदन प्रक्रिया शुरू हो गई है। संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद के सचिव एसके वैश्य ने बताया कि अभ्यर्थी वेबसाइट (जेईईसीयूपी.एनआइसी.इन ) के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। सामान्य वर्ग के अभ्यर्थी 300 और अनुसूचित जाति व जनजाति के लिए 200 रुपये आवेदन शुल्क रखा गया है। वहीं प्राविधिक शिक्षा परिषद की ओर से निरस्त की गईं विशेष बैक पेपर अब तीन जनवरी से होंगी। प्राविधिक शिक्षा परिषद के सचिव एसके सिंह ने बताया 23, 24 और 26 दिसंबर को होने वाली निरस्त बैक पेपर परीक्षाएं क्रमश: छह, सात व आठ जनवरी को होंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.