योग्यता आधारित छात्रवृत्ति योजना परीक्षा की तैयारी में जुटा विभाग

Basicगोरखपुर: निर्धन बच्चों के लिए आयोजित होने वाली राष्ट्रीय आय एवं योग्यता आधारित छात्रवृत्ति योजना परीक्षा की तैयारी में विभाग जुट गया है। बेसिक शिक्षा अधिकारी (बीएसए) आरके सिंह ने परीक्षा में अधिक से अधिक प्रतिभागिता सुनिश्चित कराने के लिए खंड शिक्षाधिकारियों व शिक्षकों को बच्चों को प्रोत्साहित करने का निर्देश दिया है।

बीएसए ने प्रत्येक ब्लाक में गणित विषय के एआरपी को ब्लाक नोडल अधिकारी की जिम्मेदारी सौंपी है, जो अपने ब्लाक के शिक्षकों को इस परीक्षा में बच्चों की प्रतिभागिता सुनिश्चित कराने के लिए प्रेरित करेंगे। तीन वर्षों से इस परीक्षा में परिषदीय विद्यालयों से बच्चों की प्रतिभागिता बढ़ाने व जागरूक करने वाले उच्च प्राथमिक विद्यालय बेलकुर के सहायक अध्यापक प्रवीण कुमार मिश्र एवं जंगल कौड़िया ब्लाक में विज्ञान विषय के एआरपी संतोष कुमार राव को जनपद स्तर पर नोडल प्रभारी अधिकारी बनाया है। यह फार्म भरने, परीक्षा की तैयारी व तकनीकी समस्याओं को हल करने में सहयोग करेंगे।

यह भी पढ़ेंः  सरकार ने शिक्षकों के सम्मान में खींची बड़ी लकीर

परीक्षा की तैयारी के विषय में प्रभारी नोडल अधिकारी प्रवीण ने बताया की तीन वर्ष पहले जनपद में छात्रवृत्ति के लिए आरक्षित 309 सीटों के सापेक्ष दहाई अंकों में फार्म भरे जाते थे। जागरूकता का नतीजा है कि पिछले तीन वर्षों में क्रमश: 218, 330 व 263 फार्म भरे गए। बीएसए आरके सिंह ने बताया कि विभाग की मंशा अधिक से अधिक छात्रों को लाभान्वित करना है।

क्या है इसका लाभ

राष्ट्रीय आय एवं योग्यता आधारित छात्रवृत्ति योजना परीक्षा कक्षा आठ में अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिए आयोजित होती है। इसमें सफल होने के बाद विद्यार्थी को अपनी पढ़ाई के अगले चार वर्ष तक एक हजार रुपये प्रतिमाह छात्रवृत्ति मिलती है। सफल छात्र को यह लाभ इंटरमीडिएट तक प्राप्त होगा।

यह भी पढ़ेंः  निजी स्कूलों की तर्ज पर जिले के परिषदीय स्कूलों को मॉडल स्कूलों के रूप में संवारा जायेगा