पुरानी पेंशन को बहाल करने और निजीकरण एवं आउटसोर्सिंग पर रोक लगाने की मांग उठाई गई

  

protestलखनऊ। संयुक्त संघर्ष संचालन समिति के महासम्मेलन में रविवार को पुरानी पेंशन को बहाल करने और निजीकरण एवं आउटसोर्सिंग पर रोक लगाने की मांग उठाई गई। गांधी भवन में हुए सम्मेलन की अध्यक्षता करते हुए समिति के अध्यक्ष एसपी तिवारी ने कहा कि नई पेंशन व्यवस्था लागू कर सरकार ने कर्मचारियों का बड़ा नुकसान किया है, कई भत्ते समाप्त कर दिए गए, समूह ग व समूह घ के पदों पर भर्तियों पर रोक लगा दी गई है।

राज्य कर्मचारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह ने कहा कि शिक्षामित्र, अनुदेशक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व रसोइए आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं, लेकिन सरकार संवेदनशून्य बनी है। सम्मेलन को महामंत्री आरके निगम, प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष सुशील पांडेय, सह संयोजक आरके वर्मा, सफाई कर्मचारी संघ के अध्यक्ष क्रांति सिंह, शिक्षामित्र संघ के अध्यक्ष शिव कुमार शुक्ला, मृतक आश्रित संघ के अध्यक्ष जुबैर अहमद, राज्य कर्मचारी महासंघ के कृतार्थ सिंह, ग्राम पंचायत कर्मचारी संघ के उमेश भारती सहित कई कर्मचारी संगठनों के नेताओं ने संबोधित किया।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *